विनीत उपाध्याय

।। चल निकले हैं वीर महान।।

विनीत उपाध्याय मातृभूमि की रक्षा हेतु शौर्य दिखाने स्वयं राष्ट्र का ऋण निपटाने शत्रु का सीना चीर मिटाने चल निकले हैं वीर महान।। गददारों को मार भगाने विपदा में पीड़ित को बचाने देश का मस्तक गर्व से उठाने सबसे आगे रहे सुजान।। नभ, जल, थल की रक्षा हेतु दुर्गम पथ को सुगम बनाने दुर्दिल के […]

Continue Reading
ashutosh pant

हरेला पर्व ही है पौध लगाने और पौधरोपण अभियान शुरू करने का सही दिन

इस खबर को अखबार की तरह पढ़ें(1) गर्मी के दिनों (पांच जून ) लगाए पौधों के जीवित रहने की संभावना रहती है बहुत कम आशुतोष पंत हल्द्वानी। पांच जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। इस दिन हमारे देश में भी पौधरोपण करने की होड़ सी लग जाती है। पर्यावरण के प्रति सजग रहना […]

Continue Reading
kumaon jansandesh.com

कहूं या न कहूं, चलो अब कह ही देता हूं, बाकी आप पर छोड़ता हूं….

कहूं या न कहूं, चलो अब कह ही देता हूं, बाकी आप पर छोड़ता हूं…. तेजपाल नेगी हल्द्वानी | दो मिनट हमारे लिए भी निकाल कर अवश्य पढ़ें, प्रणाम मित्रों कई दिनों से अपने आप से विचार कर रहा था यह बात आपके समक्ष रखूं या नहीं। अंततः आज सुबह दस बजे  (14 अप्रैल 2020) […]

Continue Reading
हिरन के बच्चे को दूध पिलाती महिला

हिरणों को अपना दूध पिलाती हैं ये मांएं

हिसार। अगर सलमान खान काला हिरण कांड पांच साल के लिए जेल भेजे गए हैं तो इसमें बहुत बड़ा योगदान बिश्नोई समाज का है। राजस्थान के अलावा हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में फैला बिश्नोई समाज अपने आराध्य गुरु जम्भेश्वर जी के बताए 29 नियमों का पालन करते हैं। इनमें से एक नियम […]

Continue Reading
gift

बेटी की इंजीनियर पापा को सरप्राइज पार्टी

कुछ अच्छी परिपाटियां जो भविष्य के लिए अच्छा संकेत शेखर बेंजवाल हल्द्वानी। हमारे समाज में रिटायरमेंट का मतलब होता है बुढापे के आगमन की सरकारी घोषणा हो जाना। रिटायरमेंट के बाद ज्यादातर बच्चे तो यह मान बैठते हैं कि अब मां-बाप उन पर बोझ बनने वाले हैं। लेकिन इस सामान्य अवधारणा के विपरीत कुमाऊं मंडल […]

Continue Reading
रुदपुर डिवाइडर किनारे लगाए पौधै मुरझाये हुए

रुद्रपुर में सिंचाई के नाम पर लाखों डकारने के बाद भी डिवाइडर किनारे लगे पौधे सूखने की कगार पर

विनोद पनेरू रुद्रपुर। अपने बैंक खाते को नोटांें की गडिडयों से सींचने के बाद भी अफसरों की संवेदना नहीं जागी। जिन पौधों को लगाने, सिंचाई व देखभाल के नाम पर करीब 15 लाख से अधिक का बजट खपा दिया गया हो वे पौधे आज सिंचाई व देखरेख के अभाव मेें सूखने की कगार पर पहुंचे […]

Continue Reading
तनुजा पनेरू

ऐ स्कूल मुझे जरा फिर से बुलाना

ऐ स्कूल मुझे जरा फिर से बुलाना कमीज के बटन ऊपर नीचे लगाना वो अपने बाल खुद का न बन पाना पीटी शूज को चैक से चमकाना वो काले जूतों को मौजे से पोछ जाना ऐ मेरे स्कूल मुझे फिर से बुलाना वो बड़े नाखूनों को दांत से चबाना और लेट आने पर मैदान के […]

Continue Reading
आरक्षण की तस्वीर

जब प्रधानमंत्री झाडू पकड़ सकते हैं तो पंडित, ठाकुरों के युवा गटर साफ क्यों नहीं कर सकते

आरक्षण पर टकराव ठीक नहीं, ठाकुर, पंडित भी पकड़े झाडू चंदशेखर जोशी हल्द्वानी। यदि आरक्षण की खिलाफत हो तो सबसे पहले वाल्मीकि और दलित जातियों का सदियों से सफाई में जन्मजात आरक्षण खत्म किया जाए। सफाई कार्य में सवर्णों की भर्ती हो। जब देश के प्रधानमंत्री झाडू पकड़ सकते हैं तो पंडित, ठाकुरों के युवा […]

Continue Reading
sidcul-rudrapur

पंतनगर सिडकुल में सुलग रही श्रमिक असंतोष की भयंकर चिंगारी, प्रबंधन को ले डुबेंगी लपटें

सिडकुल पंतनगर में श्रमिकांें के हालात कुछ ठीक नहीं हैं। काम का बोझ, नौकरी का भरोसा नहीं, शारीरिक और मानसिक उत्पीड़न की इंतहां। प्रबंधन और श्रम अफसरों की मिलीभगत से श्रम कानूनों की सरेआम धज्जियां। सर्दी, गर्मी में हाड़तोड़ मेहनत के बाद भी ठेकेदार के आगे तनख्वाह के लिए गिड़गिड़ाना, यही नियति बन गई है […]

Continue Reading
www.kumaonjansandesh.com

पंचायत चुनाव को लेकर आप भी सुनिए रजिस्ट्रार कानूनगो की यह पहाड़ी कविता

गांवों में चुनावी माहौल को शब्दों में पिरोने की बेहतर कोशिश कुमाऊं जनसंदेश डेस्क हल्द्वानी। पंचायत चुनाव को लेकर प्रत्याशियों का घर-घर दस्तक देने का क्रम जारी है। हर कोंई अपने पक्ष में मतदान को लेकर बड़े-बड़े दावे और घोषणाएं कर रहा है। ऐसे समय में रजिस्ट्रार कानूनगो और कवि राम प्रसाद आर्य की गांवों […]

Continue Reading