अरविंद पांडेय

बोले अरविंद पांडेय- अभी मेरी नहीं जनता की सुरक्षा जरूरी, हटाए जाएं मेरे सुरक्षा कर्मी, बनाएं कोराना वारियर्स

उत्तराखण्ड ऊधमसिंह नगर ताजा खबर नैनीताल

शिक्षा मंत्री ने पुलिस महानिदेशक से की वार्ता
कुमाऊं जनसन्देश डेस्क
रुद्रपुर/हल्द्वानी। उत्तराखंड के विद्यालयी शिक्षा, संस्कृत शिक्षा, खेल, युवा कल्याण एवं पंचायती राज मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए एक अहम फैसला लिया है। उन्होंने राज्य के पुलिस महानिदेशक से वार्ता कर उनकी सुरक्षा में लगे सुरक्षा कर्मियों को शीघ्रग हटाने को कहा है। साथ ही उनकी सुरक्षा में लगे सुरक्षा कर्मियों को कोरोना से बचाव के लिए सहायक के तौर पर काम में लिए जाने को कहा है, जिससे कि इस महामारी से निजात पाने को डयूटी में तैनात कार्मिकों को और बल मिल सके।
अपनी सुरक्षा से सुरक्षिा कर्मियों को हटाने वाले लोगों में फिलहाल शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय का नाम ही पहले स्थान पर बताया जा रहा है।
बकौल अरविंद पांडेय, अभी मेरी नहीं जनता की सुरक्षा जरूरी है। क्योंकि लाकडाउन के कारण जनता से मिलन और सार्वजनिक स्थानों पर आजकल जाना न के बराबर हो रहा है। ऐसे में उन्हें इन दिनों सुरक्षा कर्मियों की जरूरत महसूस नहीं हो रही है। ऐसे में उनकी सुरक्षा में तैनात सुरक्षा कर्मियों को कोराना वारियर्स बनाकर इन सुरक्षा कर्मियों का कोरोना से बचाव में सहायक के रूप में काम लिया जा सकता है।
शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने पुलिस महानिदेशक से दूरभाष पर वार्ता कर कहा कि मेरी निजी सुरक्षा में कार्यरत सभी पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से कोरोना वायरस के संकट को दूर करने हेतु कार्यों में संलग्न किया जाए।

साथ ही बताया कि सामुदायिक भावना के अनुरूप राष्ट्रीय आपदा के दौरान वर्तमान परिस्थितियों में जितने ज्यादा सहायक हाथ होंगे, उतना ही सहायतार्थ एवं रोकथाम व बचाव के कार्यों में और अधिक सहयोग होगा।
इस तरह देखा जाए तो शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय की यह पहल बेहद सराहनीय कही जाएगी। अब देखना यह है कि अन्य लोग भी इस तरह की पहल कब तक करते हैं।
हिन्दी समाचार पोर्टल कुमाऊं जनसन्देश भी शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय की कोरोेना से जंग मेें इस पहल की सराहना करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.