प्रमाण पत्र देते अधिकारी

बेहतर कमाई का जरिया बनेगी ऐपण कला: विपिन

उत्तराखण्ड ऐपण ताजा खबर नैनीताल स्वरोजगार हस्तशिल्प हुनर

भीमताल में आयोजित हो रहा ऐपण कला पर आधारित प्रशिक्षण
भीमताल। जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक विपिन कुमार का कहना है जिलाधिकारी सविन बंसल के मार्गदर्शन में जिले में ऐपण कला को बेहतर कमाई का जरिया बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए जिलेभर में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। यह बात महाप्रबंधक विपिन कुमार ने बीते दिन भीमताल स्थित सरस कार्यालय के सभागार में आयोजित ऐपण कला पर आधारित चार साप्ताहिक उद्यमिता विकास कार्यक्रम के शुभारंभ के अवसर पर कही।
उन्होंने कहा कि महिलाओं व युवतियों को स्वरोजगार से जोड़ने के उददेश्य से प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है। कहा कि ऐपण कला को जिले का मुख्य व्यवसाय बनाने का प्रयास किया जा रहा है जिसमें लोकल कला को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

प्रशिक्षण में मौजूद महिलाएं
प्रशिक्षण में मौजूद महिलाएं

कार्यक्रम में निर्मला सोशल रिसर्च एंड डवलपमेंट सोसाइटी के निदेशक संजीव कुमार ने कहा कि संस्था द्वारा पूर्व में भी ऐसे अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जाते रहे हैं और संस्था द्वारा प्रशिक्षण के साथ उनको जॉब वर्क भी दिया जा रहा है। कार्यक्रम में जिला उद्योग केंद्र के देवेंद्र मेहता ने कहा कि स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षण बहुत आवश्यक है। प्रशिक्षका हेमा खनायत ने कहा कि ऐपण कला को बढ़ावा देने के लिए उद्योग विभाग का यह एक बेहतर प्रयास है।

रामगढ़ में खाद्य प्रसंस्करण की अपार संभावनाएं: यादव
रामगढ़। जिला उद्योग केंद्र द्वारा आयोजित तीन सप्ताहिक उद्यमिता विकास कार्यक्रम का समापन तल्ला रामगढ़ में हुआ। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ब्लॉक मिशन मैनेजर बीएस यादव ने कहा कि खाद्य प्रसंस्करण का उद्योग आज के युग की आवश्यकता है। रामगढ़ में इस उद्योग की असीम संभावनाएं हैं। एनआरएलएम के तहत भी प्रशिक्षणथियांे को अनेक लाभ दिए जाने हैं। ग्रोथ सेंटर भी शीघ्र प्रस्तावित है। निर्मला सोशल रिसर्च एंड डवलपमेंट सोसाइटी के निदेशक संजीव कुमार ने बताया कि ऐसे कई अन्य प्रशिक्षण आयोजित किए जा रहे हैं जिसमें एनआरएलएम को भरपूर सहयोग लिया जा रहा है। प्रशिक्षक हरेंद्र कुमार ने बताया कि कीवी, खुमानी और केले की मिठाई भी प्रशिक्षण में बनाई गई हैं। कार्यक्रम में संस्था के कार्यक्रम निदेशक दुष्यंत सिंह ने कार्यक्रम की महत्व पर प्रकाश डाला और कार्यक्रम का संचालन हेमा बिष्ट ने किया। कार्यक्रम में नेहा भटनागर, आनंदी, गंगा सहित 26 प्रशिक्षणार्थी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.