पौधरोपण करते शिक्षा मंत्री पांडेय

आखिर किस मंत्री ने कहा, शिक्षा को नहीं रहने देंगे पलायन का कारण

उत्तराखण्ड ऊधमसिंह नगर ताजा खबर नैनीताल

कैंप कार्यालय गूलरभोज से की हरेला पौधरोपण कार्यक्रम की शुरूआत
कुमाऊं जनसन्देश डेस्क
रुद्रपुर/हल्द्वानी। शिक्षा, संस्कृत, खेल, युवा कल्याण एवं पंचायतीराज मंत्री अरविन्द पाण्डेय का मेरा गांव हरा भरा गांव के तहत हरेला पौधरोपण कार्यक्रम का आगाज हो गया है। हरेला पौधरोपण कार्यक्रम की शुरूआत सोमवार को शिक्षामंत्री अरविंद पांडेय ने अपने कैंप कार्यालय गूलरभोज आवास परिसर में पौध रोपकर की।
पूरे प्रदेश में हरेला पौधरोपण अभियान 16 जुलाई तक आयोजित किया जाएगा।
कैंप कार्यालय परिसर में पौधरोपण के बाद शिक्षा मंत्री पांडेय ने विकासखंड गदरपुर स्थित राजकीय बालिका इंटर कॉलेज गदरपुर, विकासखंड रुद्रपुर स्थित राजकीय इंटर कॉलेज बागवाला तथा एएन झा इंटर कॉलेज रुद्रपुर, विकासखंड सितारगंज स्थित राजकीय बालिका इंटर कॉलेज सितारगंज, विकासखंड खटीमा स्थित थारू राजकीय इंटर कॉलेज खटीमा में पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के सन्देश देते हुए पौधरोपण किया। इन कार्यक्रमों में विधायक रुद्रपुर राजकुमार ठुकराल, विधायक सितारगंज सौरव बहुगुणा एवं पूर्व सांसद बलराज पासी शामिल रहे।

हर समय प्रकृति और पर्यावरण का जताएं आभार: पांडेय

कार्यक्रम के दौरान मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने कहा कि हमें प्रतिपल प्रकृति और पर्यावरण के प्रति आभार व्यक्त करना चाहिए। जो मानव के अस्तित्व एवं विकास का आधार है। सभी से अपील है कि अपने आसपास सभी प्रकार के प्रदूषण कम करने में हरसम्भव योगदान दें। कहा कि हमारे प्रदेश में पहाड़ों से पलायन एक प्रमुख समस्या है। यह माना जाता है कि शिक्षा उन सुविधाओं में से एक है जिसके उच्च गुणवत्तायुक्त न होने के कारण लोग पहाड़ों से पलायन कर रहे हैं। यह मेरा संकल्प है कि मैं शिक्षा को पलायन का कारण नहीं रहने दूंगा। इसी दिशा में हमारी सरकार ने यह निर्णय लिया है कि प्रदेश के प्रत्येक विकासखंड में ऐसे दो सभी सुविधाओं से युक्त, उत्कृष्ट विद्यालय खोले जाएंगे जो सीबीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त होंगे और जिनमें अंग्रेजी माध्यम में शिक्षण कराया जाएगा।
कहा कि यह मेरा लक्ष्य है कि देश के भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित यह 190 उत्कृष्ट विद्यालय अगले सत्र में प्रारंभ हो जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.