ई-लर्निंग में मौजूद शिक्षक

ई लर्निंग प्रोजेक्ट की भविष्य में बहुत संभावनाएं: कांडपाल

उत्तराखण्ड ताजा खबर नैनीताल

कुमाऊं जनसन्देश डेस्क
हल्द्वानी। एचएन इंटर कॉलेज हल्द्वानी में प्रथम चरण के मूल्यांकन कार्य के अंतिम कार्य दिवस के अवसर पर इतिहास विषय के शिक्षकों को ई लर्निंग प्रोजेक्ट के बारे में प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इस अवसर पर ई लर्निंग प्रोजेक्ट के कोऑर्डिनेटर गौरीशंकर काण्डपाल ने इतिहास विषय के मूल्यांकन कार्य में संलग्न शिक्षकों को ई लर्निंग प्रोजेक्ट की अवधारणा समझाई गई। इसके अलावा उपस्थित समस्त शिक्षकों को ई लर्निंग प्रोजेक्ट से जुड़े विभिन्न लर्निंग एप के बारे में प्रशिक्षण प्रदान किया गया, जिनमें एनसीईआरटी बुक्स तथा स्क्रीन रिकॉर्डर सॉफ्टवेयर प्रमुख रहे।
एनसीईआरटी बुक्स मोबाइल एप के माध्यम से शिक्षक न केवल अपने विषय से संबंधित पुस्तक को डिजिटल रूप में डाउनलोड कर सकते हैं बल्कि, आसानी से विषय वस्तु को बच्चों तक पहुंचा सकते हैं। स्क्रीन रिकॉर्डर सॉफ्टवेयर के माध्यम से शिक्षक इंटरएक्टिव वीडियो बनाकर अपने विद्यार्थियों तक सरल भाषा में एवं वीडियो के माध्यम से पाठ्य पुस्तक की विषय वस्तु को पहुंचा सकते हैं। उन्होंने आगे कहा कि ई लर्निंग प्रोजेक्ट की भविष्य में बहुत अधिक संभावनाएं हैं। कोरोना संक्रमण के समय इसकी महती भूमिका उजागर हुई है।
भविष्य में इसी तरह ऑनलाइन कार्यशालाएं आयोजित की जाती रहेंगी, जिसका लाभ शिक्षकों एवं उनसे जुड़े विद्यार्थियों को प्राप्त होगा।
इस अवसर पर मोहन चंद्र बजाज, भगवती प्रसाद उप्रेती, बिशन सिंह गब्र्याल, रजनी तिवारी, मुन्नी, विजय अधिकारी, जय किशन आदि शिक्षक उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.