kumaoni dulhan

फौजी के लिए हाँ जी, अग्निवीर के लिए पहाड़ की युवतियां कह रहीं ना जी, ना जी

अल्मोड़ा उत्तराखण्ड ताजा खबर देश/विदेश देहरादून नैनीताल न्यूज डायरी पहनावा पिथौरागढ़ बागेश्वर युवा रीडर कार्नर लाइफ स्टाइल विज्ञापन संस्कृति सिटी न्यूज

अस्थायी नौकरी और पेंशन न होने से लड़की के परिवार वाले भी नहीं दे रहे सहमति
हल्द्वानी। कहीं अग्निवीर युवाओं के घर बसाने का सपना धरा का धरा न रह जाए। क्योंकि शादी के लिए उन्हें न तो कोई लड़की देने को राजी हो रहा है और न ही लड़कियां उन्हें योग्य वर मानने को तैयार हो रही हैं। ऐसे ेंमें अग्निवीर के घर वाले भी अपने अग्निवीर पुत्रों की शादी के लिए रिश्ते लेकर भटक रहे हैं। लेकिन बात नहीं बन पा रही है। स्वयं पूर्व सैनिक भी अपनी बेटी की शादी अग्निवीर से कराने को राजी नहीं हैं। इसकी वजह अग्निवीरों की अस्थायी नौकरी और पेंशन की कोई गारंटी नहीं होना है।

 

कुमाऊं से बड़ी संख्या में लोग देश की सेवा की खातिर फौज में तैनात हैं। पूर्व सैनिकों की भी कुमाऊं मंडल में बड़ी तादात है। एक हिसाब से कुमाऊं की बड़ी अर्थव्यवस्था का हिस्सा सैनिक और पूर्व सैनिक भी हैं। फौजियों को शादी के लिए आसानी से युवतियां मिल जाती हैं। तमाम युवतियों का सपना तो फौजी पति ही होता है। लोग भी राजी खुशी फौजी से अपनी बेटी का विवाह कर देते हैं। लेकिन अग्निवीर के तहत भर्ती फौजी के मामले में ऐसा बिल्कुल नहीं है। उन्हें ढूंढकर भी कोई अपनी बेटी देने को राजी नहीं है। न ही युवतियां उनके साथ सात फेरे लेकर घर बसाना पसंद कर रही हैं।

 

करीब दो साल पहले केंद्र सरकार ने अग्निवीर योजना शुरू की थी। इसके तहत फौज में चार साल के लिए पात्र बेरोजगारों को अग्निवीर के रूप में भर्ती किया जाता है। इसके बाद केवल 25 फीसदी अग्निवीरों को ही पक्की नौकरी मिलनी है। चार साल की नौकरी के दौरान वेतन के अलावा रिटायरमेंट पर करीब 11 लाख रुपये अग्निवीरों को दिये जाने हैं। जबकि पेंशन देने का प्रावधान नहीं किया गया है। ऐसे में चार साल बाद 75 फीसदी अग्निवीर फिर से बेरोजगार हो जाएंगे। अस्थायी नौकरी और पेंशन की गारंटी न होने से अग्निवीरो को शादी के लिए कोई भी लड़की देने को राजी नहीं हो रहा है और न ही युवतियां अग्निवीरो के साथ घर बसाने को तैयार हैं। ऐसे में अग्निवीर युवाओं का घर बसाने के लिए उनके घर वालों को काफी भाग दौड़ करने के बाद भी मायूसी ही हाथ लग रही है। युवतियों का कहना है कि अग्निवीर चार साल बाद फिर बेरोजगार हो जाएगा तो भविष्य में उन्हें भी दिक्कतों का ही सामना करना पड़ेगा। उन्हें चार साल बाद बेरोजगार होने वाला पति नहीं बल्कि पक्की नौकरी वाला फौजी चाहिए।

Follow us on WhatsApp Channel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *