खाने के पैकेट तैयार करती महिलाएं

लाकडाउन के बहाने ही सही, समूह की महिलाओं को मिला स्वरोजगार, हो रहा आर्थिक लाभ

उत्तराखण्ड ताजा खबर नैनीताल स्वरोजगार

करीब दस दिन में 14210 खाने के पैकेटांे का हो चुका वितरण
कुमाऊं जनसन्देश डेस्क
हल्द्वानी। लाकडाउन मेें कामकाज बंद होने से कई लोग बेरोजगार हो चुके हैं तो कई लोगों को काम काफी सिमट गया है। वहीं लाकडाउन का दूसरा पक्ष भी है। होटल-रेस्टोरेंट बंद होने से बाहरी राज्यों से वापस आ रहे लोगों को गंतव्य तक पहुंचाने में प्रशासन मदद कर रहा है और उनके रहने-खाने की व्यवस्था भी की जा रही है। बाहर से आ रहे यात्रियों के लिए खाने की व्यवस्था स्वरोजगार के लिए गठित शक्ति मां महिला स्वयं सहायता समूह कर रहा है। लाकडाउन के बहाने से ही सही समूह से जुड़ी महिलाओं को रोजगार मिला हुआ है। करीब दस दिन से महिलाएं प्रवासियों के लिए खाना तैयार कर रही हैं। इससे उन्हें ठीकठाक आय हो जा रही है।
जनपद में गठित महिला स्वयं सहायता समूहों को आत्म निर्भर बनाने व उनकी आर्थिकी मजबूत बनाने के लिए जिलाधिकारी सविन बंसल सक्रीय हैं। उन्होंने निर्वाचन के दौरान भी महिला समूहों को भोजन व्यवस्था करने में लगाया गया था जिससे उनको आर्थिक लाभ हुआ था। इसी प्रकार जिलाधिकारी बंसल ने कोविड-19 महामारी के चलते विभिन्न राज्यों में लाॅकडाउन में फंसे कुमाऊं के प्रवासियों को टेªन व बसों के माध्यम से अन्तर्राष्ट्रीय स्टेडियम गौलापार स्टेजिंग ऐरिया में लाया जा रहा है। प्रवासी यात्रियों के लिए शक्ति मां महिला स्वयं सहायता समूह द्वारा खाने की व्यवस्था की जा रही है।
मुख्य विकास अधिकारी/लाॅजस्टिक चीफ विनीत कुमार ने अपर परियोजना निदेशक (डीआरडीए) संगीता आर्या को भोजन व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। इधर, एपीडी संगीता आर्य ने बताया कि शक्ति मां स्वयं सहायता समूह द्वारा हाईजीन, साफ-सफाई, सेनेटाईजेशन आदि मानकांे का पूर्ण अनुपालन करते हुए प्रतिदिन लगभग 1200 खाने के पैकेटों का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि समूह द्वारा स्टेजिंग एरिया में तीन मई से 13 मई तक 14210 खाने के पैकेटांे का वितरण किया जा चुका है। भोजन में गुणवता, साफ-सफाई, सोशल डिस्टेंसिंग मानकों का अनुपालन कराने के साथ ही आने वालों को भोजन समय से व सुव्यवस्थित ढंग से मिले इसके लिए सहायक खण्ड विकास अधिकारी हल्द्वानी, धारी, कोटाबाग के साथ ही मिशन प्रबंधकांे की तैनाती की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.