कार्यक्रम के दौरान मंत्री एवं अधिकारी

इण्डिया जीआई फेयर में छाये उत्तराखण्ड के उत्पाद

उत्तराखण्ड कला कारोबार ताजा खबर देश/विदेश देहरादून नैनीताल

उद्योग मंत्री चन्दन राम दास ने भी की जीआई टैग उत्पादों की सराहना
हल्द्वानी/नोयडा। तीन दिवसीय इण्डिया जीआई फेयर 2022 में उत्तराखण्ड के उत्पाद छाये रहे। एक्सपोर्ट प्रमोशन काउन्सिल फाॅर हैंडीक्राफ्टस नई दिल्ली की ओर से इण्डिया एक्सपो सेन्टर एंड मार्ट ग्रेटर नोयडा में आयोजित इस मेले में बतौर मुख्य अतिथि उत्तराखंड सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री चन्दन राम दास मौजूद रहे और उन्होंने उत्पादों और शिल्पियों की सराहना की। साथ ही उद्योग विभाग अफसरों के प्रयासों को भी सराहा।
उत्पादों को जीआई टैग प्राप्त हो जाने से जहाॅं उत्पादों को विशेष पहचान मिलेगी वहीं इनकी अच्छी ब्रांडिंग होने से अच्छा मूल्य मूल्य सकेगा। इससे सीधे तौर पर उत्पादों से जुड़े उत्पादक लाभान्वित होंगे। उद्योग मंत्री चन्दन राम दास ने उत्तराखंड के अलावा अन्य राज्यों की ओर से लगाए गए उत्पादों को भी देखा गया और सराहा।
जिला उद्योग केन्द्र हल्द्वानी (नैनीताल) के महाप्रबन्धक विपिन कुमार ने बताया कि भौगोलिग संकेतांक (जीआई टैग) विशिष्ट भौगोलिग उत्पादों के पहचान को प्रतिष्ठित करने वाला चिह्न है। देश में जीआई टैग के लिए लगभग 390 से अधिक उत्पादों को पंजीकृत किया गया है, जिसमें से 200 से अधिक उत्पाद हथकरघा व हस्तशिल्प से जुड़े हैं।
इस अवसर पर मंत्री चन्दन राम दास ने कहा कि इस प्रकार के मेले स्थानीय उत्पादों की पहचान व बिक्री बढ़ाने में मददगार साबित होंगे। उन्होंने बताया कि राज्य के सात उत्पादों भोटिया दन, ऐपण, रिंगाल क्राफ्ट, टम्टा उत्पाद, थुलमा, कुमाऊँ प्यूरा आॅयल व मुनस्यारी की राजमा को जीआई टैग प्राप्त होने के बाद इनकी विशिष्ट पहचान देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हो सकेगी।
वहीं राज्य में जीआई टैग प्राप्त उत्पाद ऐपण व रिंगाल के संवर्धन के लिए राज्य सरकार की ओर से हल्द्वानी और पीपलकोटी, चमोली में ग्रोथ सेन्टर भी स्थापित किया गया है।
इस अवसर पर उद्योग निदेशालय देहरादून के संयुक्त निदेशक मृत्युंजय सिंह, जिला उद्योग केन्द्र हल्द्वानी के महाप्रबन्धक विपिन कुमार, निदेशालय के मुख्य लेखा परीक्षक केसी चमोली, ईपीसीएच के अधिकारी, शिल्पी, कृषक व विभागीय अधिकारी- कर्मचारी मौजूद रहे।

कार्यक्रम के दौरान मंत्री एवं अधिकारी
कार्यक्रम के दौरान मंत्री एवं अधिकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.