आउटलेट

अब पर्यटकों को आसानी से उपलब्ध हो सकेंगे पहाड़ी उत्पाद, डीएम ने खुलवाए 12 बिक्री केन्द्र

उत्तराखण्ड ताजा खबर नैनीताल स्वरोजगार हस्तशिल्प

महिला समूहों को भी मिलेगा फायदा, जल्द शुरू होगा आउटलेट, का संचालन

कुमाऊं जनसन्देश डेस्क

नैनीताल। ग्रामीणों की आय बढ़ाने और पहाड़ के उत्पादों की पहुंच लोगों तक आसान बनाने के लिए जिला प्रशासन लगातार प्रयास कर रहा है। पहाड़ के उत्पादों की बि6ी बढ़ाने और महिला समूह को स्वरोजगार उपलब्ध कराने के मकसद से जिलाधिकारी आइएएस सविन बंसल के निर्देशन में जिलेभर में 12 बिक्री केन्द्र (आउटलेट) खोल दिए गए हैं। जनपद में दीनदयाल अन्त्योदय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत 12 पर्यटक स्थलों पर हिलांस वुडन आउटलेट तैयार कर लिये गये हैं। इन हिलांस वुडन आउटलैट को बनाने के लिए जिलाधिकारी द्वारा 35 लाख की धनराशि जिला योजना तथा अनटाइड फंड से उपलब्ध कराई गयी है। जनपद में 12 हिलांस वुडन आउटलेट बनकर तैयार हो चुके हैं।

dm savin bansal
dm savin bansal

 

इन स्थानों पर आसानी से मिलेंगे पहाड़ी उत्पाद

जिलाधिकारी बंसल द्वारा चयनित स्थल सातताल, स्नोव्यू, मुक्तेश्वर, नौकुचियाताल, टी गार्डन श्यामखेत, सरस मार्केट हल्द्वानी, तहसील परिसर कालाढूगी, केव गार्डन, हनुमानगढ़ी तथा सडिया ताल में यह हिलांस वुडन आउटलेट बनकर तैयार हो गये हैैं। इन वुडन आउटलेट का निर्माण कुमाऊं मण्डल विकास निगम द्वारा किया गया है। प्रत्येक आउटलेट के निर्माण में 3.46 लाख की धनराशि व्यय हुई है। गौरतलब है कि इन हिलांस वुडन आउटलेट मंे स्वयं सहायता समूह की महिलायें अपने विभिन्न प्रकार के उत्पाद जैसे अचार, मुरब्बा, दालें, मसाले, बड़ियां, हर्बल उत्पाद, रिंगाल/रामबांस से हस्त निर्मित टोकरियां एवं बैग, ऐपण व अन्य सामानों की बिक्री करेंगी।

 

स्थानीय उत्पादों को मिलेगा बाजार

जिलाधिकारी की इस पहल से जहां महिलाओं को रोजगार मिलेगा वहीं जनपद के स्थानीय उत्पादों को पहचान एवं बाजार मिलेगा। इस प्रकार पर्यटकों के जरिये जनपद के ग्रामीण उत्पाद राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर तक पहुंचेंगे। ग्रामीण एवं महिला विकास में जिलाधिकारी की यह पहल निश्चय ही प्रशंसनीय है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.