बैठक लेतीं राज्यपाल बेबी रानी

राज्यपाल ने दिया महिला समूहों और हस्तशिल्पियों के उत्पादों की बिक्री बढ़ाने पर जोर

उत्तराखण्ड ताजा खबर नैनीताल

जिला प्रशासन को होम स्टे पंजीकरण प्रक्रिया सरल बनाने के निर्देश
कुमाऊं जनसन्देश डेस्क
नैनीताल। राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने पलायन रोेकने और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के उददेश्य से महिला समूहों और हस्तशिल्पियों की ओर से तैयार किए जा रहे स्थानीय उत्पादों की बिक्री बढ़ाने पर जोर दिया है। इसके लिए उन्होंने जिलाधिकारी को नैनीताल व कुमाऊं मंडल के अन्य जनपदों के महिला स्वयं सहायता समूहों को नैनीताल बाजार, अन्य महत्वपूर्ण बाजारों तथा पर्यटक स्थलों पर उनके स्थानीय उत्पादों व हस्तशिल्पों की बिक्री के लिए स्थान उपलब्ध करवाने के भी निर्देश दिए है। उन्होंने होम स्टे पंजीकरण की प्रक्रिया को सरल बनाने के भी निर्देश दिये हैं।
साथ ही जिले में होने वाले विकास कार्यो की प्रगति रिपोर्ट हर माह राजभवन को उपलब्ध कराने को कहा है।
राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने बुधवार को राजभवन नैनीताल में नैनीताल जिले में हो रहे विकास कार्यों विशेषकर होम स्टे योजना, यातायात  प्रबंधन, महिला स्वयं सहायता समूहों की स्थिति, वनाग्नि की स्थिति तथा पुलिस-प्रशासन द्वारा नशाखोरी को रोकने के लिये किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की। राज्यपाल मौर्य ने जिलाधिकारी तथा लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता को माल रोड़ नैनीताल के सर्वे होने के बाद मार्ग निर्माण के कार्य  को शीघ््रा से शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। राज्यपाल ने नैनीताल जनपद में होम स्टे योजना की प्रगति की जानकारी ली। जिला पर्यटन विकास अधिकारी ने जानकारी दी कि उत्तराखण्ड सरकार के राज्यभर में वर्ष 2020 तक 5000 होम स्टे विकसित करने के लक्ष्य के सापेक्ष कुमाऊँ मण्डल में 2275 होम स्टे विकसित का लक्ष्य है। अभी तक 1017 होम स्टे पंजीकृत किये जा चुके हैं तथा 85 होम स्टे के पंजीकरण की प्रक्रिया गतिमान है।
राज्यपाल मौर्य ने निर्देश दिये की होम स्टे पंजीकरण में आ रही बाधाओं का त्वरित निस्तारण किया जाय। आम जनमानस को इसके लिये तहसील तथा मुख्यालय तक न आना पडे़। भूमि सम्बन्धित मामलों मंे लेखपाल तथा पटवारी इसमें सक्रिय एवं सकारात्मक भूमिका निभाये। बैंकों से उचित समन्वय बनाकर होम स्टे हेतु ऋण की प्रक्रिया को भी सरल बनाया जाय।
राज्यपाल मौर्य ने टीबी सैनिटोरियम भवाली की स्थिति पर भी चिंता व्यक्त की। राज्यपाल ने सुझाव दिया कि सैनिटोरियम का रिनोवेशन करवाकर इसे पीपीपी मोड पर संचालित किया जा सकता है। राज्यपाल इस सम्बन्ध में शासन स्तर पर वार्ता करेंगी।
राज्यपाल मौर्य ने महिला स्वयं सहायता समूहों की उत्पादों के मार्केंटग के मुद्दे को भी गम्भीरता से लेते हुये जिलाधिकारी को निर्देश दिये की उनके उत्पादों के लिए महत्वपूर्ण पर्यटक स्थलों पर अधिक से अधिक आउटलेट्स खोले जाय तथा आॅनलाइन मार्केंटिग में भी उनकी सहायता की जाय।
इस अवसर पर आयुक्त कुमाऊं अरविन्द सिंह हयांकी,  आईजी कुमाऊं अजय रौतेला, जिलाधिकारी सविन बंसल, एसएसपी सुनील कुमार मीणा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. भागीरथी जोशी, संतोष कुमार उपाध्याय अधिशासी अभियंता उत्तराखण्ड जल संस्थान,  इं हरिशंकर शुक्ला अधिशासी अभियंता, अरविन्द गौड़ जिला पर्यटन विकास अधिकारी, कमलेश कुमार गुप्ता मुख्य शिक्षा अधिकारी एचसी तिवारी संयुक्त निदेशक उद्यान कुमाऊं, टीआर बिजूलाल डिविजन फारेस्ट आॅफिसर तथा रंजीत सिंह एस.ई लोक निर्माण विभाग नैनीताल उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.