सीएम रावत

गांवों के विकास का आधार बन रहे ग्रोथ सेंटर: सीएम

उत्तराखण्ड ऊधमसिंह नगर ताजा खबर देश/विदेश

मुख्यमंत्री रावत ने जिलाधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश
कुमाऊं जनसन्देश डेस्क
रुद्रपुर। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने वीडियों कांफ्रेन्स के माध्यम से सभी जिलाधिकारियों के साथ जनपदों में संचालित ग्रोथ सेंटरों की समीक्षा की। उन्होने उत्तराखण्ड के उत्पादों के लिए एक अम्ब्रेला ब्रांड बनाए जाने के निर्देश दिए व सभी ग्रोथ सेंटरों में बिक्री और मुनाफे का लक्ष्य निर्धारित कर काम करें। उन्होंने जिलाधिकारियों को ग्रोथ सेंटरों में स्वयं जाकर वहां आने वाली समस्याओं का निस्तारण के निर्देश दिये। उन्हांेने कहा कि इनके उत्पादों की आॅनलाइन मार्केटिंग की व्यवस्था की जाए व स्थानीय बाजारों में भी इनके द्वारा बनाये गये वस्तुओ को फोकस किया जाए। उन्होने कहा कि ग्रोथ सेंटरों से जुड़े लोगों का स्किल डेवलपमेंट की भी व्यवस्था की जाए।

नियमित बिक्री हो सुनिश्चित
मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रोथ सेंटरों के उत्पादों की सीजनल ही नहीं बल्कि नियमित बिक्री सुनिश्चित की जाए। आसपास के कुछ ग्रोथ सेंटरों को मिलाकर एक पिकअप वाहन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जा सकती है। इससे यातायात लागत कम होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रोथ सेंटरों से जुड़े लोगों विशेषतौर पर महिलाओं के आत्मविश्वास में वृद्धि हुई है। इस आत्मविश्वास को और बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि ग्रोथ सेंटर आत्मनिर्भर भारत और वोकल फोर लोकल का अच्छा उदाहरण हैं। उन्हांेने कहा कि उत्तराखण्ड के उत्पादों के लिए एक अम्ब्रेला ब्रांड बनाया जाए। इसके अंतर्गत अन्य ब्रांड भी चलते रहेंगे। इसके लिए दक्ष विशेषज्ञों की सहायता ली जाए। इसके लिए उत्तराखण्ड के उत्पादों की विशेषता, सम्भावित मार्केट आदि का पूरा अध्ययन किया जाए। ब्रांड का नाम इस प्रकार हो जिसमें उत्तराखण्ड की फीलिंग आए। उद्योग विभाग इसे क्रियान्वित करेगा।

सीएम ने संचालकों से लिया फीड बैक
मुख्यमंत्री ने विभिन्न ग्रोथ सेंटरों के संचालक स्वयं सहायता समूहों से बात की और उनसे फीडबैक लिया। बताया गया कि ग्रोथ सेंटर प्रारम्भ होने से उनसे जुड़े ग्रामीणों और महिलाओं की आय में बढ़ोतरी हुई है। धीरे-धीरे उत्पादों को बाजार भी मिलता जा रहा है। स्थानीय लोग ग्रोथ सेंटरों से जुड़ने के लिए आगे आ रहे हैं। दर्जनों ग्रोथ सेंटरों से जुड़े लोगों ने मुख्यमंत्री को ग्रोथ सेंटर योजना के लिए आभार व्यक्त करते हुए ग्रोथ सेंटरों की कार्यविधि की जानकारी दी।

उधमसिहंनगर में संचालित हैं छह सेंटर
जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने अवगत कराया कि जनपद में 6 ग्रोथ सेन्टर स्वीकृत किये गये हैं। जिसमें चार ग्रोथ सेन्टर- बेकरी ग्रोथ सेन्टर, स्पाइस ग्रोथ सेन्टर, हैण्डीक्राफ्ट ग्रोथ सेन्टर, मेघावाला दुग्ध ग्रोथ सेन्टर जो पूर्ण रूप से संचालित हैं जिनमंे लगातार विभिन्न समूहों द्वारा उत्पादन किया जा रहा है। उत्पादों को स्थानीय बजार के साथ-साथ हाउसिंग सोसाइटी, शाॅपिंग माल, स्थानीय डीलरों एवं सरस विपणन केन्द्र के माध्यम से विक्रय किया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि दो ग्रोथ सेन्टर- मत्स्य ग्रोथ सेन्टर व क्विल्ट मेक्रिग ग्रोथ सेन्टर में कार्य प्रगति पर है जिन्हें शीघ्र संचालित कर दिया जायेगा।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी हिमांशु खुराना, पीडी हिमांशु जोशी, सहायक निदेशक मत्स्य एसके गुरुरानी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.