योजना के शुभारंभ अवसर पर मौजूद डीएम

सीएम ने किया मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना का शुभारंभ

उत्तराखण्ड ऊधमसिंह नगर ताजा खबर देहरादून

कहा, अधिकाधिक लोगों को स्वरोजगार से जोड़ना है उददेश्य
कुमाऊं जनसन्देश डेस्क
रुद्रपुर। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरुवार को विश्वकर्मा भवन सचिवालय परिसर देहरादून स्थित वीर चन्द्र सिंह गढवाली सभागार में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर सीएम रावत ने कहा कि प्रदेश के युवाओं और कोरोनाकाल में वापस लौटे प्रवासियों को स्वरोजगार उपलब्ध कराने के साथ ही हरित ऊर्जा के उत्पादन को बढ़ावा देना योजना का लक्ष्य है। इस अवसर पर वीडियों कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से सभी जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी एवं सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।
उन्होंने जिलाधिकारियों व सम्बन्धित अधिकारियों को विशेष रूप से स्वरोजगार योजनाओं पर फोकस करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि हमे स्वरोजगार योजनाओ पर अधिक-अधिक केन्द्रित होना होगा। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को स्वरोजगार योजनाओं का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये ताकि आम जन तक मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना का लाभ मिल सके।
उन्होंने जिलाधिकारियों को इस योजना के तहत लाभार्थी को जो भूमि चयनित करनी है उस भूमि का परिर्वन 143 में एक सप्ताह के भीतर करने हेतु सम्बन्धित उप जिलाधिकारियांे को निर्देशित करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि एक सप्ताह के भीतर 143 भूमि परिर्वन के मामले निस्तारित हो जाने चाहिये।
जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना के शुभारम्भ के अवसर पर जनपद वासियों से आह्वान किया कि लघु एवं सीमान्त कृषक व बेरोजगार इस योजना का लाभ उठायें। उन्होने कहा कि इस योजना हेतु जो इच्छुक लाभार्थी है वे http://msy.uk.gov.in पोर्टल पर आवेदन व जानकारी ले सकते है।
उप मुख्य परियोजना अधिकारी,उरेडा रमेश चन्द्र पाण्डेय ने अवगत कराया कि प्रदेश में 10 हजार लाभार्थियांे को सौर स्वरोजगार योजना से जोड़ने का लक्ष्य है।
योजना के अन्तर्गत मात्र 25 किलो वाट के ग्रिड सोलर पाॅवर प्लांट के लिए आवेदन किया जा सकेगा। योजना की कुल लागत 10 लाख है जिसमंे 70 प्रतिशत का ऋण तथा 30 प्रतिशत मार्जिन मनी के रूप में वहन की जायेगी। उन्होंने बताया कि आवेदन के साथ स्थाई निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, भूमि सम्बन्धित अभिलेख आदि अपलोड करने होगें। योजना की विस्तृत जानकारी उक्त पोर्टल पर उपलब्ध है।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी हिमांशु खुराना, लीड बैंक अधिकारी केडी नौटियाल, महाप्रबन्धक उद्योग चंचल बोहरा, अधिशासी अभियन्ता विद्युत संजय कुमार तिवारी, महाप्रबन्धक डीसीबी रामअवध आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.