लोगोें को सम्बोधित करते आयुक्त सुशील कुमार

हरीशताल और लोहाखामताल को पर्यटक स्थल बनाने के लिए पर्यटन विभाग करेगा सर्वे

उत्तराखण्ड ताजा खबर नैनीताल

मंडलायुक्त ने आपदा प्रभावित क्षेत्रों का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए निर्देश
कुमाऊं जनसन्देश डेस्क
हल्द्वानी। मण्डलायुक्त सुशील कुमार ने विगत माह जनपद मंे आयी दैवीय आपदा से प्रभावित क्षेत्रों चिलवाल गांजा, हैडाखान, उडवा, बडिया के ग्रामों का अधिकारियों के साथ गुरूवार को स्थलीय निरीक्षण किया व आपदा प्रभावित क्षेत्रों मे त्वरित कार्य कराकर सभी सुविधायें बहाल कराने के निर्देश मौके पर अधिकारियों को दिये। निरीक्षण दौरान उन्होंने चिलवाल गांजा में गौलानदी से हुये कटाव का निरीक्षण करते हुये उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि वे नदी से हो रहे कटाव को रोकने हेतु सिचाई विभाग से सर्वे कराकर आंकलन प्रस्ताव प्रस्तुत करें ताकि शीघ्र कटाव रोकने के लिए कार्य किया जा सके। ग्रामवासियों ने चिलवाल गांजा राजस्व ग्राम को ग्राम सभा बनाने की मांग रखी।
इसके बाद मण्डलायुक्त ने ककोडगांजा गांव पहुचकर उच्चतर राजकीय माध्यमिक विद्यालय परिसर में जनसमस्यायें सुनी। उन्होने कहा कि जो समस्याये जनता व जनप्रतिनिधियों ंद्वारा उठाई गई हैं उनका हर सम्भव निराकर करने का प्रयास किया जायेगा, जो जनपद स्तर की समस्यायें है उन्हे जनपद स्तर से शीघ्र समाधान कराया जायेगा जो शासन स्तर की है उन्हे शासन से समाधान कराने का शीघ्र प्रयास किया जायेगा। ककोड़ में पहुचने पर क्षेत्रीय विधायक रामसिह कैड़ा, प्रधान व क्षेत्र पंचायत सदस्यों आदि ने आयुक्त का स्वागत किया।
आयुक्त ने क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति को देखते हुये कहा कि यहां उद्यान, कृषि व पर्यटन की अपार सम्भावनायें है। उन्होंने मौके पर अधिकारियों को निर्देश देते हुये कहा कि क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति को देखते हुये उद्यान, कृषि व पर्यटन की योजनायें व प्रस्ताव बनायेें ताकि क्षेत्रवासियों की आर्थिकी मजबूत हो सके। इस दौरान बडौन व ककोड वासियों ने पीएमजीएसवाई द्वारा निर्मित सडक को डामरीकरण हेतु लोनिवि को हस्तान्तरित कराने के साथ ही क्षेत्रवासियों ने हरीशताल व लोहाखामताल को पर्यटक स्थल के रूप मे विकसित करने की मांग रखी। जिस पर आयुक्त ने कहा कि शीघ्र पर्यटन विभाग से सर्वे कराया जायेगा। आयुक्त ने कहा जो भी योजनाये बनें वह योजनायें दीर्घकालिक बने जिससे आने वाले हमारी पीडियों को इसका लाभ मिल सकेे। उन्होने कहा जनपद मे दैवीय आपदा से क्षतिग्रस्त विद्युत, सडक, पेयजल लाइनों को अस्थाई रूप से सुचारू कर दिया गया है, स्थायी रूप से मरम्मत कार्य भी प्रारम्भ हो गया है। शिविर मे क्षेत्रवासियों एवं जनप्रतिनिधियों ने ककोडगांजा प्राथमिक विद्यालय का उच्चीकरण, दूरसंचार टावर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, पशु चिकित्सालय तथा गौलानदी मे भूकटाव रोकने हेतु चकडैम बनाने की मांग रखी। उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को शीघ्र प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करने के निर्देश दिये ताकि आमजनमास की समस्याओ का निस्तारण शीघ्र किया जा सके।
निरीक्षण दौरान ज्येष्ठ प्रमुख प्रदीप मटियाली, ग्राम प्रधान गंगा सिह चिलवाल, डिकर सिह मेवाडी, इन्दर सिह चिलवाल, लोक सिह मेवाडी,शिव सिह मटियाली सहित मुख्य विकास अधिकारी डा0 संदीप तिवारी, अधिशासी अभियन्ता लोनिवि दीपक गुप्ता, सिचाई तरूण बंसल, उपखण्ड अधिकारी विद्युत मनोज तिवारी के अलावा क्षेत्रीय जनता उपस्थित थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.