बैठक मेें मंचासीन अधिकारी व अतिथि

पशुपालकों को दी पशु रोगों के लक्षण व निदान की जानकारी

उत्तराखण्ड ताजा खबर नैनीताल

केवीके ने आयोजित किया राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम
ज्योलीकोट। कृषि विज्ञान केंद्र ज्योलीकोट के तत्वावधान में राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम आयोजित कर पशुओं मेें लगने वाले रोगों, उनसे बचाव व पशु प्रबंधन के बारे में जानकारी दी गई। कृषि विज्ञान केंद्र सभागार में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि पूर्व जिला पंचायत सदस्य डा. हरीश बिष्ट ने किया। इस दौरान बिष्ट ने कहा कि पशु रोग व निदान के बारे में पशुपालकों को जानकारी होना आवश्यक है। कहा कि ऐसे कार्यक्रम पशुपालकों के लिए लाभदायी होते हैं। अपर निदेशक पशुपालन डा. पीसी कांडपाल ने विभाग की ओर से चलाए जा रहे पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के बारे में बताया।

खुरपका, मुंहपका से बचाव के बारे में बताया
मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. प्रेम सिंह भंडारी ने पशुओं मेें लगने वाले प्रमुख रोगों खुरपका, मुंहपका, ब्रुसेलोसिस एवं कृत्रिम गर्भाधान के बारे में जानकारी दी। साथ ही रोग निदान व टीकाकरण के बारे में भी बताया। पशुचिकित्साधिकारी डा. डीसी जोशी ने पशु रोगों के लक्षण व निदान की जानकारी पशुपालकों को दी। इस दौरान केंद्र के प्रभारी डा. विजय कुमार दोहरे ने सभी किसानों, पशुपालकों व अतिथियों का आभार जताया। इस दौरान केंद्र के वैज्ञानिक डा. बलवान सिंह, डा. तेजवीर सिंह, डा. कंचन नैनवाल, डा. दीपाली तिवारी, डा. सुधारा जुकारिया, डा. एमसी जोशी, डा. डीसी जोशी, डा. हेमा राठौर, लालवानी आदि मौजूद थे।v

Follow us on WhatsApp Channel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *