कार्यक्रम के दौराल कुलपति तेज प्रताप

पलायन से पहाड़ की संस्कृति और सभ्यता खतरे में: कुलपति

उत्तराखण्ड ऊधमसिंह नगर कृषि स्थानीय

पंतनगर। पंत विवि के कुलपति डा. तेज प्रताप का कहना है कि गांवों में किसानांें की आय बढ़ाने के लिए किसानों को कृषि क्षेत्र के नए ज्ञान की आवश्यकता है। कहा कि कृषि विशेषज्ञों को चाहिए कि वे नई तरीके से खेती कर रहे अनुभवी किसानों से भी किसानों को रुबरू कराएं ताकि अधिकाधिक किसानों को लाभ मिल सके। पंत विश्वविद्यालय के संचार केन्द्र में संचालित हो रहे सामुदायिक रेडियो केन्द्र, पंतनगर जनवाणी के वार्षिक समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के कुलपति डा. तेज प्रताप ने कहा कि वर्तमान में किसान को नवीन ज्ञान की आवश्यकता है। परम्परागत और जैविक खेती से कैसे आय बढ़ाई जाए इस पर भी किसानों का मार्गदर्शन करना होगा।

जंगल में बदल रहे पहाड़ के गांव
उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड के तीन हजार से भी ज्यादा गांव पलायन की वजह से भुतहा गांव में बदलते जा रहे हैं। इसके प्रभाव से पहाड़ की संस्कृति लुप्त होने की कगार पर है। पहाड़ के गांव जंगल में बदलते जा रहे हैं और पहाड़ की सभ्यता समाप्त होती जा रही है। उन्होंने पहाड़ की संस्कृति, सभ्यता और किसानों की आय बढ़ाने के लिए कृषि विशेषज्ञों को गंभीर प्रयास करने का भी सुझाव दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.