कवर पेज

खूब पसंद किया जा रहा पहाड़ी गीत ‘मेरी बाना घसेरी’, आप भी देखें वीडियो

उत्तराखण्ड कला ताजा खबर देश/विदेश नैनीताल मेरा गाँव/शहर लाइव/वीडियो संस्कृति समाज

स्थानीय कलाकार राजेंद्र प्रसाद और कुमाऊंनी कवि राजेंद्र ढैला ने तैयार किया है गीत
कुमाऊं जनसंदेश डेस्क
हल्द्वानी। मेरी बाना घसेरी, दिलदार घसेरी, त्येरी मुखेरी चमकी रहे हरिया घास मां.....। यह वीडियो गीत इन दिनों खूब छाया हुआ है। पहाडऋी गीत-संगीत और कुमाऊं की हसीन वादियों में फिल्माये इस गीत को कुछ ही दिनों में हजारों लोग देख चुके हैं। कई लोगों के जुबान पर इस गीत के बोल छाये हुए हैं तो कई लोगों ने चुनाव प्रचार के दौरान भी इसी गीत को मतदाताओं को लुभाने के लिए प्रचार के आडियो में शामिल किया है।

ओखलकांडा के हैं गायक कलाकार, शहरफाटक में हुई है शूटिंग
हल्द्वानी। मेरी बाना घसेरी, दिलदार घसेरी गीत के गायक कलाकार ग्राम सूनी ओखलकांडा ब्लॉक के मूल निवासी राजेंद्र प्रसाद हैं, जो आजकल हल्द्वानी रहते हैं। इस गीत को राजेंद्र प्रसाद और कुमाऊंनी कवि राजेंद्र ढैला ने मिलकर लिखा है। इस वीडियो गीत की शूटिंग देवीधुरा, मोरनौला, शहरफाटक के पहाड़ी क्षेत्रों में हुई है। वीडियो में दिखाया गया है कि असौज का महीना लगा हुआ है और पहाड़ की नयी नवेली ब्वारी घास काटने के लिए खेत में अपनी देवरानी जेठानी के साथ गयी है। उसी समय उसका पति परदेश से घर आता है और अपने मम्मी पापा से मिलकर सीधे खेत में पहुंचता है जहां उसकी घसेरी घास काट रही होती है। यह एक श्रंृगार रस पर लिखा हुआ प्रेम गीत है जिसमें बिछोह का दर्द और मिलन का प्रेम दर्शाया गया है। इस गीत के मुख्य अभिनय कर्ता मनोज लस्पाल और नेहा थापा हैं। नृत्य निर्देशन पवन कुमार का है। यह गीत घुगुती जागर आर डी यूट्यूब चैनल से रिलीज हुआ है। इस टीम के अन्य सदस्यों में गोकुल फत्र्याल, खीमानंद महतोलिया, मुकेश वर्मा, गिरीश शर्मा आदि भी शामिल हैं। इस गीत को अभी तक यूट्यूब में 25000 लोगों ने देख लिया है और दर्शक इसे खूब सराह रहे हैं। क्योंकि इस का फिल्मांकन बहुत ही खूबसूरत तरीके से हुआ है और इस गीत में नायक नायिका की वेशभूषा भी पहाडी संस्कृति से भरपूर है।

आप भी देखिए मेरी बाना घसेरी का वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.