केएमवीएन एमडी धीराज गर्ब्याल ने यात्रियों को प्रदान किया स्मृति चिन्ह

रोमांचक यात्रा में श्रद्धालुओं ने बनाया रिकार्ड

उत्तराखण्ड ताजा खबर नैनीताल

919 यात्रियों के सकुशल यात्रा कर मानसरोवर यात्रा संपन्न
केएमवीएन एमडी धीराज गर्ब्याल ने यात्रियों को प्रदान किया स्मृति चिन्ह

विनोद पनेरू, हल्द्वानी। अपार श्रद्धा, विश्वास और रोमांचक से भरी कैलास मानसरोवर यात्रा इस बार रिकार्ड बनाकर संपन्न हो गई है। मंगलवार को आखिरी दल के यात्री टीआरसी काठगोदाम से स्मृति चिन्ह और प्रमाण पत्र लेकर काफी अभिभूत और रोमांचक यादों की पोटली लेकर दिल्ली रवाना हो गए। इस दौरान उन्होंने यात्रा को यादगार तो बताया ही साथ ही कुमाऊं मंडल विकास निगम की व्यवस्थाओं और सुविधाओं की भी काफी सराहना की। केएमवीएन प्रबंध निदेशक धीराज सिंह गर्ब्याल ने यात्रियों को स्मृति चिन्ह व प्रमाण पत्र देकर दिल्ली के लिए विदा किया। बता दें कि कैलास मानसरोवर यात्रा जोखिम भरी होने के साथ ही काफी रोमांचकारी भी है। आपदा और बारिश के दौरान पहाड़ी मार्ग से पैदल यात्रा करना आसान नहीं है। मगर भोले में अपार आस्था और रोमांच के बीच हर साल सैकड़ों यात्री इस जोखिम भरी यात्रा को भोले के आशीर्वाद से पूरा करते हैं। यात्रियों को सहुलियत और सुविधा प्रदान करने के लिए कुमाऊं मंडल विकास निगम भी लगातार प्रयास कर रहा है। विभिन्न यात्रा पड़ावों में यात्रियों के रुकने, ठहरने व खाने-पीने की उचित व्यवस्था निगम के अधिकारी कर्मचारी बड़ी ही सेवा भाव से करते हैं। इससे यात्रियों का उत्साह और भी बढ़ जाता है। इस बार भी निगम की ओर से यात्रियों को बेहतर सुविधा देने के पूरे प्रयास किये गए। यही वजह रही कि 18 यात्री दलों में 919 श्रद्धालुओं ने सफलतापूर्वक कैलास मानसरोवर यात्रा सकुशल पूरी की। केएमवीएन के एमडी धीराज गर्ब्याल ने बताया कि इस साल रिकॉर्ड 919 यात्रियों ने यात्रा की। जिनमें 18 अलग-अलग दलों में 680 पुरुष एवं 229 महिला यात्री थीं। इनमें सबसे ज्यादा यात्री गुजरात और उत्तर प्रदेश से शामिल हुए। उन्होंने बताया कि पिथौरागढ़ के मालपा में यात्रा मार्ग बंद होने के कारण तीन दलों को हेलीकॉप्टर से पिथौरागढ़ और गुंजी पहुंचाया गया। 12 जून से आरंभ हुई यात्रा में विभिन्न दलों में के माध्यम से यात्रा पूरी करने वाले अधिकांश यात्रियों ने व्यवस्थाओं पर खुशी जताई। बता दें कि मानसरोवर की यह यह यात्रा 1981 से लगातार कराई जा रही है। पहले साल तीन यात्री दलों में 59 श्रद्धालुओं ने मानसरोवर की यात्रा की थी। तब से लेकर अब तक लगातार यात्रा दलों व श्रद्धालुओं की संख्या में इजाफा हो रहा है। यात्रा को आसान बनाने में केएमवीएन के प्रयासों की भी यात्री सराहना करना नहीं भूलते। इस अवसर पर केएमवीएन की पर्यटन अधिकारी करुणा अधिकारी, बीके शर्मा, टीआरसी मैनेजर रमेश चंद्र पांडे सहित अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

अब तक इतने यात्री कर चुके यात्रा
वर्ष यात्रियों की संख्या दलों की संख्या
1981 59 03
1982 186 08
1983 151 07
1984 145 07
1985 168 07
1986 171 07
1987 192 07
1988 204 07
1989 132 06
1990 232 07
1991 227 07
1992 225 07
1993 365 12
1994 348 14
1995 339 13
1996 435 14
1997 516 14
1998 597 11
1999 459 15
2000 492 16
2001 464 16
2002 469 16
2003 316 10
2004 537 16
2005 529 16
2006 592 16
2007 674 15
2008 401 10
2009 607 16
2010 753 16
2011 761 16
2012 774 16
2013 106 02
2014 910 18
2015 783 18
2016 714 18
2017 919 18

Leave a Reply

Your email address will not be published.