हल्द्वानी

ग्रीन सिटी को पेयजल किल्लत से छुटकारा देनेे को चलेगी मुहिम

उत्तराखण्ड ताजा खबर नैनीताल स्थानीय

 

जनजागरण समिति को कई संगठनों का समर्थन
हल्द्वानी। कई सरकारें राज्य बनने के बाद सत्ता सुख का लाभ तो ले चुकी हैं लेकिन ग्रीन एंड क्लीन सिटी नाम से प्रसिद्ध हल्द्वानी शहर आज भी प्यासा है। बिना पर्याप्त पेयजल उपलब्ध कैसे शहर ग्रीन एंड क्लीन होगाए यह सोचने वाली बात है। पेयजल किल्लत से जहां लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैए वहीं आसपास के किसानों की खेती भी प्रभावित हो रही है। हालांकि जन जागरण समिति ने सरकार की ओर से की जा रही अनदेखी के खिलाफ आवाज उठाने के लिए जनजागरण का मन बना लिया है। इसके लिए समिति को शहर के विभिन्न संगठनों का समर्थन भी मिल चुका है।

समिति सचिव नवीन वर्मा

समिति के सचिव एवं जागरूक नागरिक नवीन वर्मा ने बताया कि जनप्रतिनिधि सत्ता पाने से पहले वादे तो करते हैं मगर सत्ता मिलते ही वे जन समस्याओें को भूल जाते हैं। इसी के चलते सरकारी मशीनरी भी निष्क्रिय रहती है। बताया कि हल्द्वानीण्भाबर की पेयजल किल्लत जमरानी बांध बनने से ही दूर हो सकती है लेकिन सरकार का रवैया स्पष्ट नजर नहीं आ रहा है। शहरवासियों को पेयजल किल्लत से छुटकारा दिलाने को मुहिम शुरू करने के लिए सामाजिक संस्थाओंए व्यापार मंडलए रोटरी क्लबए लायंस क्लब से बातचीत हो चुकी है। वर्मा ने बताया कि समिति से जुड़े लोग पिछले पांच सालों से पेयजल को लेकर सक्रियता से लगे हुए हैं लेकिन सरकार व मशीनरी जागने का नाम नहीं ले रही है। इसको देेखते हुए जनजागरण मुहिम शुरू करने का निर्णय लिया गया है। कहा कि समिति की मुख्य मांगें शहर को पेयजल से छुटकारा दिलानेए बलियानाले की गंदगी से मुक्ति और जमरानी बांध बनवाना मुख्य है।

स्वामी विवेकानंद मार्ग हो नहर कवरिंग रोड का नाम
हल्द्वानी। जग जागरण समिति ने नहर कवरिंग रोड का नाम स्वामी विवेकानंद मार्ग रखने की मांग उठाई है। समिति सचिव नवीन वर्मा की ओर से मुख्यमंत्री को भेजे गए ज्ञापन में कहा गया है कि इस मार्ग का नाम स्वामी विवेकानंद मार्ग रखना उचित रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.