satpal maharaj

आगामी चारधाम यात्रा में दर्शन के लिए लागू हो सकता है टोकन सिस्टम

उत्तराखण्ड ताजा खबर देश/विदेश देहरादून नैनीताल न्यूज डायरी

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने तैयारियों को लेकर ली पहली बैठक
हल्द्वानी। आगामी चारधाम यात्रा को सुव्यवस्थित करने के मददेनजर वैष्णो देवी की तर्ज पर दर्शनार्थियों के लिए टोकन सिस्टम लागू किया जा सकता है। राज्य सरकार चारधाम में आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधा देने के लिए जुट गई है। बीते वर्ष की तरह चारधाम यात्रा में आने वाले तीर्थ यात्रियों के पंजीकरण की व्यवस्था ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन भी रहेगी।
यात्रा मार्ग पर शौचालय इस्तेमाल करने पर पर्यटकों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। साथ ही खाद्य वस्तुओं के रेट भी निर्धारित किए जाएंगे जिससे यहां आने वाले श्रद्धालु क्षेत्र की अच्छी छवि लेकर ही जाएं।

 

बुधवार को सचिवालय में पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने चारधाम यात्रा की तैयारियों को लेकर पहली बैठक ली। उन्होंने कहा कि इस बार में चारधाम यात्रा में भारी संख्या में तीर्थयात्री आएंगे। इसके लिए धामों में पर्यटकों की सुविधा के लिए विशेष इंतजाम समय पर पूरे किए जाएं। चारधाम में यात्रियों की वहन क्षमता का विशेष ध्यान देना होगा। जिस तरह से वैष्णो देवी में दर्शन के लिए टोकन सिस्टम है। उसी तरह चारधाम में व्यवस्था बनाने का अध्ययन किया जा रहा है।

महाराज ने कहा कि चारधाम यात्रा के दौरान तोता घाटी के समीप होने वाले भूस्खलन को देखते हुए श्रीनगर के समीप यात्रियों को मार्ग अवरुद्ध होने की जानकारी देने के लिए आवश्यक उपाय किए जाएं। डंपिंग जोन को समतल कर पार्किंग की वैकल्पिक व्यवस्था की जाए। उन्होंने आरटीओ को सभी सड़कों के मौका मुआयना करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही पर्यटकों और यात्रियों की समस्याओं को सुनने और समाधान के लिए पर्यटन पुलिस को दक्ष कर अलग से वर्दी निर्धारित की जाए। जिससे पर्यटन पुलिस को पहचान हो सके।

बैठक में बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय, सचिव लोक निर्माण विभाग पंकज पांडेय, पर्यटन विकास परिषद के अपर मुख्य अधिकारी युगल किशोर पंत, अपर सचिव गृह रिद्धिमा अग्रवाल, मुख्यमंत्री के सलाहकार बीडी सिंह, बीकेटीसी के अनिल ध्यानी, जीएमवीएन की विप्रा त्रिवेदी समेत अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

 

Follow us on WhatsApp Channel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *