kumaon jansandesh.com

उधमसिंहनगर: मनरेगा कार्यो की जांच को चाहिए दस रिटायर्ड इंजीनियर, तीन साल के लिए होगी तैनाती

उत्तराखण्ड ऊधमसिंह नगर ताजा खबर स्थानीय

रुद्रपुर। उधमसिंहनगर जिले में मनरेगा कार्यो की जांच के लिए अधिकारियों की तैनाती होगी। इन अफसरों का कार्यकाल तीन साल का होगा और इनसे महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण योजना के तहत जिले में कराए गए कार्यो में से दस फीसदी कार्य की जांच कराई जाएगी। इस सम्बंध में अपर जिला कार्यक्रम समन्यवक/मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित ने पात्रों से आवेदन मांगे हैं।
सीडीओ के अनुसार मनरेगा के दस फीसदी कार्यो के लिए दस रिटायर्ड सहायक अभियंता या इससे उच्च स्तर के अभियंताओं को नामित किया जाना है। आवेदन करने वाले पात्र सिविल इंजीनियरिंग में उपाधि/डिप्लोमा प्राप्त और किसी शासकीय संस्थान, राज्य/केंद्र, सार्वजनिक उद्यम एवं उनके अधीनस्थ कार्यालयों से कम से कम सहायक अभियंता या उससे उच्च स्तर से रिटायर्ड हुए हों और सिविल कार्य मेें दस साल का अनुभव हो। आवेदन की तिथि को आवेदक की आयु 67 वर्ष से कम होनी चाहिए। नामित अभियंता को महीने में कम से कम दस दिन पैदल भ्रमण कर कार्यो की जांच करनी होगी। लिहाजा आवेदक शारीरिक रूप से स्वस्थ होना जरूरी है। अधिक जानकारी के लिए विकास भवन स्थित मनरेगा कार्यालय से संपर्क किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.