प्रशस्ति पत्र देने के दौरान डीएम व अन्य

सीएम ने दिया स्वरोजगार का नया विचार, महिला समूह कर सकेंगे बेहतर कारोबार

उत्तराखण्ड ऊधमसिंह नगर कारोबार ताजा खबर नैनीताल स्वरोजगार

अफसरों को दिए ग्रोथ सेंटर के जरिए महिलाओं को प्रशिक्षित करने के निर्देश
कुमाऊं जनसन्देश डेस्क
नैनीताल/रुद्रपुर। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि वर्तमान में रेडिमेड कपड़े पहनने का चलन अधिक है। करीब 80 प्रतिशत लोग रेडिमेंट कपडे़ पहनते हैं। यदि महिला स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से स्कूली बच्चों, डाक्टर, नर्स आदि की डेªस को बनवाया जाए तो समूह से जुड़ी महिलाएं अपने स्वरोजगार को और अधिक बढावा दे सकती हंै। सीएम रावत ने इसके लिए अफसरों से भी इस मंशा को धरातल पर उतारने के लिए मंथन करने के निर्देश दिए हैं। ताकि महिलाओं की आर्थिक स्थिति को और मजबूत किया जा सके।
बीते दिन ऊर्जा संरक्षण दिवस पर वीडियो कान्फेन्सिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जनपद के स्कूली छात्राओं, ग्राम प्रधानांे, एलईडी ग्राम लाइट कार्यक्रम में प्रशिक्षित स्वयं सहायता समूहों से संवाद किया। उन्हांेने कहा कि विकास व ऊर्जा संरक्षण में महिलाओ की अहम भूमिका है। उन्होंने कहा कि हमंे महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त कर उनमें उद्यमी का भाव जगाना है। उन्हांेने कहा कि प्रधान द्वारा अपने गांव में ऊर्जा संरक्षण में जो कार्य किये गये है वे अतिमहत्वपूर्ण हैं। हमें और इस दिशा में कार्य करने की जरूरत है।
मुख्यमंत्री रावत ने ऊर्जा संरक्षण में कार्य कर रहे महिला स्वयं सहायता समूहों को 50-50 हजार रुपये रिवाल्विंग फंड देने की घोषणा की। उन्हांेने कहा कि हमें माता-बहनों को सशक्त बनाना है। उज्जवला योजना के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों की महिला को लकड़ी व धुएं से निजात दिलाने के लिए गैस दिलाई गई है। अब माॅ- बहनों को सिर में घास लाने से निजात दिलाना हमारा लक्ष्य है। यह तभी हो पायेगा जब महिलायें आर्थिक रूप से मजबूत होंगी।
मुख्यमंत्री की ओर से जिलाधिकारी सविन बंसल द्वारा जनपद के कोटाबाग में एलईडी ग्राम लाईट के तहत कार्य कर रहें सूरज स्वयं सहायता समूह रतनपुर कोटाबाग की परमजीत कौर व सीता स्वयं सहायता समूह बैलपोखरा की अमरजीत कौर को एनर्जी वाॅरियर्स स्मृति चिह्न व राजकीय इन्टर काॅलेज मंगोली की छात्रा भावना बुधलाकोटी व गायत्री बुधलाकोटी को प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया गया।
वीसी में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील केआर मीणा, परियोजना अधिकारी उरेडा संदीप भट्ट आदि मौजूद थे।

प्रशस्ति पत्र देने के दौरान डीएम व अन्य
प्रशस्ति पत्र देने के दौरान डीएम व अन्य

प्रदेश के विकास में महिलाएं अहम: रावत
रुद्रपुर। उत्तराखंड अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (उरेडा) के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने वीडियों कांन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से ऊर्जा संरक्षण दिवस के अवसर पर सभी जिलाधिकारियों, स्वयं सहायता समूहों, ग्राम प्रधानों, एवं स्कूली छात्रों के साथ संवाद किया। उन्होंने सभी समूह की महिलाओं को बधाई दी व कहा कि महिलाओं के अन्दर विश्वास जगाना हमारी पहली प्राथमिकता होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास में महिलाओं का बहुत बड़ा योगदान होता है। इसके लिये महिलाओं को सशक्त बनाना बहुत जरूरी है।
इस अवसर पर जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने ऊर्जा संरक्षण दिवस की बधाई देते हुये प्रदेश स्तर पर आयोजित चित्रकला प्रतियोगिता में जनपद से चयनित डीपीएस विद्यालय की छात्रा सुहावी को पुरस्कार एवं प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानित किया। उन्होंने जनपद के माॅडल ऊर्जा दक्ष ग्राम-मजरा हसन (ग्राम पंचायत झगडपुरी) ब्लाक गदरपुर की ग्राम प्रधान हसीना जहांॅ, अन्नपूर्णा, वाहेगुरु महिला स्वयं सहायता समूहों की फूलमाला ढाली, सोनिया कोचर एवं राजकीय बालिका इण्टर कालेज पंतनगर की आंचल एवं सलोनी सिंह को ऊर्जा मित्र के रूप में प्रशस्ती पत्र देकर सम्मानित किया। उन्हांेने उप मुख्य परियोजना अधिकारी उरेडा आरसी पाण्डेय को निर्देश दिये कि समस्त कार्यालयों में ऊर्जा की बचत के लिए ऊर्जा दक्ष उपकरणों यथा एलईडी बल्ब, ट्यूब लाइट एवं ऊर्जा दक्ष पंखांे के प्रयोग के लिए प्रयास करें ताकि हरित ऊर्जा को बढ़ावा मिले सकें तथा ऊर्जा की बचत की जा सके।
इस अवसर पर ओसी एनएस नबियाल, मुख्य शिक्षा अधिकारी आरसी आर्या, उप खण्ड शिक्षा अधिकारी गंुजन अमरोही सहित समूह की महिला एवं छात्राएं उपस्थित थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.