प्रशिक्षण किट देते विधायक भगत

घर और गांव रोशन करेंगी कोटाबाग की महिलाएं, तैयार करेंगी एलईडी बल्ब

करियर ताजा खबर नैनीताल

40 महिलाओं व दस 10 आईटीआई डिप्लोमा धारक लोगों को दिया जा रहा प्रशिक्षण
कोटाबाग/कालाढूगी। ऊर्जा की बचत के लिये एलईडी बल्ब आने वाले समय की जरूरत हैं। जरूरत के साथ मांग बढ़ना स्वाभाविक है। ऐसे में कोटाबाग की 40 महिलाएं ऊर्जा संरक्षण में भागीदारी बनने और स्वरोजगार अपनाने के लिए जल्द ही एलईडी बल्ब तैयार करने वाली हैं। महिलाओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत हो चुकी है।
मंगलवार को विकास खण्ड कोटाबाग सभागार में एलईडी ग्राम लाइट प्रशिक्षण एवं उत्पादन कार्यक्रम का शुभारम्भ विधायक एवं पूर्व केबिनेट मंत्री बंशीधर भगत ने किया। कार्यक्रम में उपस्थित स्वयं सहायता समूह की महिलाओं व अन्य उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुये विधायक भगत ने कहा कि बदलते दौर में पानी के साथ ही हमें ऊर्जा की बचत करनी होगी। मानव जीवन के लिए ऊर्जा और पानी दोनो महत्वपूर्ण हैं। ऐसे मंे हमंे ऊर्जा और पानी की बर्बादी को रोकते हुये इनके संरक्षण का कार्य करना होगा। ऊर्जा की बचत के लिये एलईडी बल्ब काफी लोकप्रिय हो रहे हंै। सरकार ने निर्णय लिया है कि एलईडी ग्राम लाइट योजना के अन्तर्गत स्वयं सहायता समूह के माध्यम से इन बल्बों का उत्पादन किया जाए। उन्होने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में इस प्रकार की योजनाओं से पलायन को रोकने मे मदद मिलेगी वही ग्रामीण स्तर पर रोजगार के अवसर भी बढेंगे।

मंचासीन लोग
मंचासीन लोग

वहीं मुख्य विकास अधिकारी प्रकाश चन्द्र ने कहा कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूह की 40 महिलाआंे तथा 10 आईटीआई डिप्लोमा धारक लोगो को एलईडी बल्ब, झूमर, ट्यूबलाईट, एलईडी झालर बनाने का पांच दिवसीय प्रशिक्षण दिया जायेगा। इस योजना के लिए प्रदेश सरकार द्वारा देहरादून में थानों तथा नैनीताल में कोटाबाग विकास खण्ड का चयन किया गया है। यह प्रशिक्षण बीएस एनर्जी हार्मोनाईजेशन संस्था द्वारा दिया जायेगा। उन्होने बताया कि प्रशिक्षण के बाद स्वयं सहायता समूह को इस कार्य को रोजगार के रूप में अपनाने के लिए प्रधानमंत्री योजना के तहत ऋण उपलब्ध कराया जायेगा तथा मनरेगा के तहत सम्बन्धित ग्रामों में भवन निर्माण कर एलईडी बल्ब एवं अन्य सामग्री तैयार करने के लिए स्थान उपलब्ध कराने में सहयोग किया जायेगा। प्रशिक्षण संस्था के प्रशिक्षक विवेक सिंह ने प्रशिक्षण के उददेश्य एवं उसकी उपयोगिता की जानकारी दी। इस अवसर पर तारादत्त पाण्डे, जिला पंचायत सदस्य महेन्द्र चैधरी, मनोज पाठक, चन्द्रशेखर बुडलाकोटी, चन्द्रसिंह कपकोटी, विनोद बुडलाकोटी, नन्दन सिंह रावत, देवेन्द्र ढौंडियाल, नवीन पंत, जगदीश गुरो, श्रीष तिवारी, प्रधान दीप चन्द्र तिवारी, भरत सिह नेगी, नवीन गरजौला आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.