vc

कमिश्नर ने अफसरों को पढ़ाया जिम्मेदारी का पाठ

अल्मोड़ा उत्तराखण्ड ताजा खबर

वीडियो कान्फ्रंेसिग के माध्यम से सभी अधिकारियों को दिये निर्देश
अल्मोड़ा। नवनियुक्त कुमाऊं कमिश्नर राजीव रौतेला ने अफसरों को जिम्मेदारी से काम करने का पाठ पढ़ाया। उन्होंने जनपद की कानून व्यवस्था पर पैनी नजर रखने के साथ-साथ पेयजल समस्या के निदान के लिए सभी जिलाधिकारी व पुलिस विभाग के अधिकारी सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी पूर्ण सावधानी बरतने को कहा। आयुक्त कुमाऊं मण्डल राजीव रौतेला ने वीडियो कान्फ्रंेसिग के माध्यम से अधिकारियों से कहा कि यातायात व्यवस्था पर पैनी नजर रखनी होगी। क्षमता से अधिक सवारी बैठाने वालों पर कडी कार्रवाई अमल में लायी जाए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जहां पर भी पेयजल की किल्लत हो रही हो उन क्षेत्रों का भ्रमण सम्बन्धित उपजिलाधिकारी जल संस्थान के माध्यम से पेयजल वितरण करवाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि जनपद में होने वाले तहसील दिवसों में अनिवार्य रूप प्रतिभाग करना सुनिश्चित करें ताकि आम लोगों की समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण किया जा सके। उन्होंने राजस्व विभाग के जो भी मामले लंबित है उनके निस्तारण में तेजी लाने के भी निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि जो भी फरयादी आये उसकी समस्याओं को सुनकर मौके पर ही मामले के निस्तारण पर प्राथमिकता दी जाए।
आयुक्त कुमाऊ मण्डल ने कहा कि जनपदों में जहां पर भी निर्माण कार्य चल रहे हैं उनकी गुणवत्ता पर विशेष ध्यान रखा जाए। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि निर्माण कार्य निर्धारित अवधि मे पूर्ण हो सके। आयुक्त कुमाऊ मण्डल ने कहा कि भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी सहित अन्य अधिकारी विद्यालयों, चिकित्सालयों, आगनबाडी केन्द्रों, पटवारी चैकियों, सस्ता गल्ला की दुकानों का औचक निरीक्षण करेंगे। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में जंगली जानवरों द्वारा अधिक नुकसान पहुंचाया जा रहा है। उन क्षेत्रों के काश्तकारों से समन्वय स्थापित कर वहां पर मनरेगा के अन्तर्गत सूअर रोधी दीवार बनाने के लिये खुली बैठक में प्रस्ताव बनाने को भी उन्हें प्रेरित करेंगे।
आयुक्त कुमाऊ मण्डल ने जिलाधिकारियों से यह भी निर्देश दिये वे अपने अधीनस्थ शिक्षाधिकारियों को निर्देशित कर विद्यालयों में पाठ्य पुस्तकों की व्यवस्था करना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कर्मचारियों की उपस्थित अनिवार्य रूप से 10ः00 बजे पूर्व हो तथा कार्यालय में सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। इस अवसर पर जिलाधिकारी इवा आशीष व मुख्य विकास अधिकारी ने राजस्व वादों, लंबित मामलों सहित अन्य विकास कार्यों के बारे में विस्तार से बताया। इस अवसर पर जिलाधिकारी इवा आशीष, वनाधिकारी पंकज कुमार, मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित, अपर जिलाधिकारी केएस टोलिया, जिला विकास अधिकारी मो. असलम, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी मनोहर लाल, उप पुलिस अधीक्षक कमल राम, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. निशा पाण्डे आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.