महिलाओं को जानकारी देतीं संस्था की पदाधिकारी

मंूज घास से बने उत्पाद खोल रहे स्वरोजगार के द्वार

उत्तराखण्ड ऊधमसिंह नगर ताजा खबर

महिला समूहों की बैठक में विशेष कार्य करने पर दिया गया बल
कुमाऊं जनसन्देश डेस्क
सितारगंज/हल्द्वानी। मंूज घास से बने उत्पादों से महिला समूह अच्छी आमदनी कर रहे हैं। इस दिशा में मिलजुल कर विशेष कार्य कर आय को और बढ़ाया जा सकता है। कहा गया कि मूंज घास से बने उत्पाद स्वरोजगार का एक बेहतर जरिया हैं। इस तरह की चर्चा गुरुवार को भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान और एसेंचर के सहयोग से आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन अवसर पर महिला समूहों की बैठकों के दौरान की गई।
निर्मला सोशल रिसर्च एंड डवलपमेंट सोसायटी की ओर से आयोजित बैठक में महिलाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया गया। बैठक की अध्यक्षता सोसाइटी की सचिव हेमा बिष्ट ने की। समूह की सदस्य रिंकू राणा ने बताया कि मूंज घास से बनी चप्पल की बाजार में विशेष मांग है। साथ ही घास की राखी बनाने का प्रयास भी किया जा रहा है। बताया कि महिलाएं ईडीआई और एसेंचर के सहयोग से मंूज घास से उत्पाद तैयार कर अच्छी आय अर्जित कर रही हैं। इसके लिए उन्होंने ईडीआई, एसेंचर के साथ ही निर्मला सोशल रिसर्च एंड डवलपमेंट सोसायटी का आभार भी जताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.