कुविवि प्रशासनिक भवन में धरना देते एनएसयूआई कार्यकर्ता

अब 15 मार्च से होने वाली परीक्षा के विरोध में कुविवि में बवाल

उत्तराखण्ड ताजा खबर नैनीताल

नैनीताल। अच्छे शैक्षणिक माहौल के लिए पहचान बना चुके कुविवि में आए दिन हंगामे हो रहे हैं। इससे विवि की साख प्रभावित होने के साथ ही छात्रों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है। नये मामले के अनुसार एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने 15 मार्च से होने वाली परीक्षा का विरोध करते हुए कुविवि के प्रशासनिक भवन में जमकर हंगामा किया। यहां तक की पुलिस से भी नोकझोंक हुई। हालांकि कुलपति प्रो. डीके नौडिय़ाल ने साफ कर दिया कि विवि की परीक्षाएं हर हाल में 15 मार्च से ही होंगी।
जानकारी के अनुसार मंगलवार को कुमाऊं भर से आए एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को कुविवि प्रशासनिक भवन में जमकर बवाल काटा। कार्यकर्ताओं की मांग थी कि विवि प्रशासन ने 15 मार्च से शुरू होने जा रही वार्षिक परीक्षाओं का परीक्षा कार्यक्रम घोषित किया है वह उचित नहीं है। उन्होंने कार्यक्रम में बदलाव को लेकर हंगामा काटा। साथ ही बीते दिनों एनएसयूआई कार्यकर्ताओं पर लगाये गये मुकदमे वापस लेने की मांग भी प्राथमिकता से उठायी। सुरक्षा की दृष्टि से दिनभर प्रशासनिक भवन पुलिस छावनी में तब्दील रहा।
मंगलवार को एनएसयूआई के राष्ट्रीय सचिव सुमित्तर भुल्लर के नेतृत्व में अपराह्नï एक बजे दर्जनों एनएसयूआई कार्यकर्ता कुविवि प्रशासनिक भवन पहुंचे। इस दौरान पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बाद भी छात्रों ने गेट से विश्वविद्यालय में प्रवेश किया। यहां नारेबाजी कर आक्रोश व्यक्त किया गया। इसके बाद एक दस सदस्यीय शिष्टमंडल को कुलपति प्रो. डीके नौडिय़ाल से वार्ता के लिए बुलाया गया। इस बीच विवि के प्रशासनिक अधिकारियों से छात्रों की तीखी नोकझोंक भी हुई। हालांकि विवि प्रशासन ने छात्रों पर लगाए गए मुकदमे में चर्चा के लिए कमेटी गठित किए जाने का आश्वासन दिया, लेकिन परीक्षाओं की तिथि में बदलाव करना असंभव बताया।
परीक्षा हर हाल में होगी 15 से : कुलपति
नैनीताल। कुविवि के कुलपति प्रो. डीके नौडिय़ाल ने कहा है कि छात्रों पर लगाये गये मुकदमों के मामले में कमेटी गठित कर विचार विमर्श किया जाएगा। उन्होंने साफ कहा कि परीक्षा की तिथि में परिवर्तन करना अब संभव नहीं है। क्योंकि 15 मार्च से परीक्षाएं शुरू की जानी हैं और तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.