नरेंद्र सिंह मेहरा

राजस्थान के माउंट आबू में बोया जाएगा गौलापार में तैयार गेहूं

उत्तराखण्ड कृषि ताजा खबर

गौलापार के किसान को एग्रीकल्चर एण्ड रुरल डवलपमेंट विंग ने भेजा पत्र
विनोद पनेरू
हल्द्वानी। गौलापार के किसान का तैयार गेहूं का बीज लगातार प्रदेश के अलावा अन्य राज्यों का भी पसंदीदा बनता जा रहा है। प्रदेश के कई किसान इस नई विकसित गेहूं की बीज प्रजाति को बोकर अच्छा उत्पादन कर रहे हैं। अब राजस्थान में इस बीज प्रजाति को परीक्षण के लिए बोया जाएगा। परीक्षण सफल होने के बाद इसे बोने के लिए वहां के किसानों को भी प्रेरित किया जाएगा, जो कि गौलापार के लिए एक विशेष उपलब्धि समान होगी।

किसान ने खुद तैयार कर डाली गेहूं की प्रजाति
गौलापार, तल्ला देवला के रहने वाले नरेंद्र सिंह मेहरा का नाम कृषि विभाग में बतौर प्रगतिशील किसान के रूप में दर्ज है। कुछ साल पहले उन्हें खेत में काम करने के दौरान गेहूं का एक अलग तरह का पौधा दिखाई दिया, जिसका कल्ला और बीज अपेक्षाकृत काफी बड़े थे। इसे उन्होंने संभालकर रख लिया और अगले साल परीक्षण के लिए बो दिया। जब फसल तैयार हुई तो परिणाम चैंकाने वाले थे। इस अलग तरह के पौधे से तैयार गेहूं के बीज का उत्पादन काफी अधिक पाया गया और गेहूं के दाने भी अपेक्षित सामान्य से अधिक थे। इस पर किसान नरेंद्र सिंह मेहरा ने इस बीज प्रजाति का नाम नरेंद्र-09 रख लिया। यह बीज प्रदेश में काफी लोकप्रिय होता जा रहा है। वहीं इसके पेटेंट की प्रक्रिया गतिमान है। नरेंद्र-09 बीज प्रजाति ने गौलापार के किसान नरेंद्र सिंह मेहरा को नई पहचान दे दी है।

कृषि एवं ग्राम विकास प्र्रभाग के उपाध्यक्ष ने की सराहना
अब इस बीज प्रजाति को परीक्षण के लिए राजस्थान में लगाने की तेयारी है। आगामी गेहूं सीजन में इसे वहां बोया जाएगा। इसके लिए एग्रीकल्चर एण्ड रुरल डवलपमेंट विंग माउंट आबू, राजस्थान की ओर से किसान मेहरा को पत्र भेजा है। पत्र में कृषि एवं ग्राम विकास प्र्रभाग के उपाध्यक्ष बीके राजू ने बताया है कि नरेंद्र मेहरा द्वारा तैयार नरेंद्र-09 गेहूं की प्रजाति को आगामी सत्र में ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय माउंट आबू राजस्थान में परीक्षण के लिए बोया जाएगा। उन्होंने मेहरा की उपलब्धियों की सराहना करते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की है।

संस्थान से जारी पत्र
संस्थान से जारी पत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published.