प्रो. नन्दगोपाल साहू

कुविवि के प्रो. नंद गोपाल साहू ने दूसरी बार पाया दुनिया के शीर्ष वैज्ञानिकों में स्थान

उत्तराखण्ड ताजा खबर देश/विदेश नैनीताल

प्रो. साहू ने वेस्टेज से ग्राफीन बनाने की विधि पर किया है शोध
नैनीताल। कुमाऊं विश्वविद्यालय के प्रो. नंद गोपाल साहू ने विवि का फिर से गौरव बढ़ाया है। यूएसए की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी ने दुनिया के शीर्ष दो फीसदी वैज्ञानिकों की प्रतिष्ठित वैश्विक सूची में कुमाऊं विश्वविद्यालय के प्रो. नंद गोपाल साहू को जगह मिली है। यह दूसरी बार है जब इस सूची में कुमाऊं विवि के प्रो. नंद गोपाल साहू का नाम शामिल हुआ है।

बता दें कि वर्ष 2013 में कुमाऊं विवि के रसायन विज्ञान विभाग के तहत शुरू हुए नैनो टेक्नोलॉजी एंड नैनो साइंस विभाग में प्रो. नंद गोपाल साहू ने जिम्मेदारी संभाली। इससे पूर्व वह सिंगापुर में एक कुशल वैज्ञानिक के तौर पर सेवाएं दे रहे थे। मूल रूप से पश्चिम बंगाल निवासी प्रो. साहू ने वेस्टेज से ग्राफीन बनाने की विधि पर शोध किया। इस पर वह और उनकी टीम कार्य कर रही है। वह कई पेटेंट प्राप्त कर चुके हैं।

स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के एमिनेंट प्रोफेसर, प्रोफेसर जॉन इओनिडिस के नेतृत्व में विशेषज्ञों की एक टीम की ओर से से वैज्ञानिकों की सूची तैयार की गई है। प्रो. नंद गोपाल साहू कुमाऊं विवि के डीएसबी परिसर के रसायन विज्ञान विभाग के अंतर्गत संचालित प्रोफेसर राजेंद्र सिंह नैनो साइंस एंड नैनो टेक्नोलॉजी सेंटर में प्राध्यापक के पद पर कार्यरत हैं। अमेरिका के स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में वैज्ञानिकों की एक टीम ने आकलन के बाद वैज्ञानिकों की सूची जारी की है। इसमें पॉलीमर एवं नैनो साइंस श्रेणी में प्रो. साहू को दुनिया के शीर्ष वैज्ञानिकों की सूची में स्थान दिया है। इससे पूर्व वर्ष 2021 में उन्हें इस श्रेणी में स्थान प्राप्त हुआ था।

Follow us on WhatsApp Channel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *