स्टाल का निरीक्षण करते डीएम और सीडीओ

अल्मोड़ा में दो दिवसीय किसान मेला और गोष्ठी शुरू

अल्मोड़ा उत्तराखण्ड ताजा खबर

परम्परागत व्यवसाय से जुड़े लोगों को मिला मंच
अल्मोड़ा। अन्तर्राष्ट्रीय कृषि निधि के वित्तीय सहयोग एवं उत्तराखण्ड ग्राम्य विकास समिति द्वारा संचालित एकीकृत आजीविका सहयोग परियोजना अल्मोड़ा द्वारा उदय शंकर नाट्य अकादमी फलसीमा में दो दिवसीय किसान मेले एवं गोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है। इस मेले में परम्परागत व्यवसाय लोहारगिरी, बांस एवं अन्य रेशों से तैयार किये गये उत्पादों से सम्बन्धित शिल्पियों की प्रदर्शनी इस मेले में लगायी गयी है। इस अवसर पर जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया एवं मुख्य विकास अधिकारी मनुज गोयल ने मेले में काश्तकारों द्वारा लगाये गये विभिन्न स्टाॅलों का निरीक्षण किया और जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने सहकारिताओं द्वारा संचालित गतिविधियों की सराहना करते हुए कहा कि परियोजना एवं अन्य विभागों को अपनी योजनाओं का लाभ ग्राम स्तर के अन्तिम व्यक्ति तक पहुॅचाने का प्रयास करना चाहिए ताकि लोगों को आजीविका से जुड़ने का मौका मिल सके। मेले के प्रथम दिन चैखुटिया, ताड़ीखेत, सल्ट, हवालबाग, द्वाराहाट, स्याल्दे विकासखण्डों में गठित आजीविका संघों, स्वायत्त सहकारिताओं के अनेक समूह सदस्यों, काश्तकारों द्वारा इसमें प्रतिभाग किया गया।

मेले मेें मौजूद स्थानीय लोग
मेले मेें मौजूद स्थानीय लोग

काश्तकारों ने प्रदर्शित स्टाॅलों मुख्यतः 45 आजीविका संघों के स्टाॅल, हो दाज्यू, कृषि विभाग, उद्यान, उद्योग, जैविक उत्पादन परिषद मजखाली, उत्तराखण्ड ग्रामीण बैंक, पर्वतीय कृषि अनुसंधान संस्थान हवालबाग, पशुपालन विभाग, हिमोत्थान परियोजना, व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदाता संस्थान मुख्य रहे। मेले काश्तकारों द्वारा विभागोंध्संस्थानों द्वारा प्रदर्शित विभिन्न प्रदर्शनों के विषय में विस्तार से जानकारी प्राप्त की। इस मेले में परियोजना निदेशक नरेश कुमार, मुख्य पशुपालन अधिकारी राजीव चन्द्रा, परियोजना प्रबन्धक इकाई के रईस अहमद, प्रभागीय परियोजना प्रबन्धक कैलाश चन्द्र भटट, ग्रास संस्था के प्रमुख गोपाल सिंह चैहान, सहायक प्रबन्धक विक्रम सहित तकनीकी संस्थाओं के लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.