कार्यक्रम के दौरान शिक्षक और छात्र

राइंका गुनियालेख में हर्षोल्लास से मनाया गया प्रथम शिक्षामंत्री आजाद का जन्मदिन

उत्तराखण्ड देश/विदेश नैनीताल

निबंध में मोहित और क्विज में विपिन ने बाजी मारी
धारी/गुनियालेख। राजकीय इंटर कॉलेज गुनियालेख में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर विज्ञान क्विज प्रतियोगिता, निबंध प्रतियोगिता तथा भाषण का आयोजन किया गया। देश के प्रथम शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद का जन्मदिन विद्यालय में धूमधाम से मनाते हुए प्रधानाचार्य रमेश चंद्र द्विवेदी ने बताया कि मौलाना कलाम का शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान है। उन्होंने आईआईटी, आईआईएम, यूजीसी जैसे संस्थानों की स्थापना में प्रमुख भूमिका निभाई। शिक्षक गोकुल सिंह मार्तोलिया ने बताया कि, कलाम का जन्म 11 नवंबर 1888 को हुआ था। वह अनेक भाषाओं के ज्ञाता थे। वे एक प्रमुख इतिहासकार व दार्शनिक थे। सन् 1947 से 1958 तक वे पंडित जवाहरलाल नेहरू के कैबिनेट में शिक्षा मंत्री के पद पर रहे । उन्हें शिक्षा जगत में उनके अभूतपूर्ण योगदान के लिए 1992 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया । हेम त्रिपाठी के द्वारा मौलाना अबुल कलाम आजाद की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि स्वतंत्रता संग्राम के नेतृत्वकर्ताओं में वे एक प्रमुख शख्सियत थे।

प्रतियोगिताओं का भी किया आयोजन
विद्यालय में विज्ञान प्रतियोगिता का संचालन अमर सिंह बिष्ट, एमएम गोस्वामी, राजेश बोरा, गौरीशंकर काण्डपाल ने किया। निबंध प्रतियोगिता में क्रमश प्रथम तीन स्थानों प मोहित पौडियाल, पिंकी दानी, नितेश कुमार तथा जूनियर वर्ग में नीतू पौडियाल, अर्जुन कुमार तथा मुकेश कुमार स्थान प्राप्त किया। विज्ञान क्विज प्रतियोगिता विजेता टीम में विपिन दानी, धीरज कुमार ,दीपक शर्मा ,पिंकी दानी ने स्थान किया प्राप्त किया। इस अवसर पर एबी शर्मा, हरीश चंद्र, डीके शाही, अनिल कुमार, नारायणी पांगती, सोनल जोशी, नीमा साह आदि शिक्षक शिक्षिकाएं उपस्थित रहे। प्रधानाचार्य रमेश चंद्र द्विवेदी ने छात्र-छात्राओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.