उत्थान मंच में कार्यक्रम प्रस्तुत करता धीरज मेलकानी।

पहाड़पानी में उभर रहा कुमाऊंनी गायक

उत्तराखण्ड करियर नैनीताल

उत्थान मंच में सीनियर गायक वर्ग में पा चुका है पहला स्थान
पहाड़पानी। बेशक संस्कृति से लोग मुंह मोड़ रहे हैं मगर नई पीढ़ी लोक कला और संस्कृति में अपना भविष्य संवारने में शिददत से जुटी है। इसका सकारात्मक परिणाम भी सामने नजर आ रहा है। पहाड़पानी का एक युवा भी कुमाऊंनी गीतों में भविष्य बनाने को मेहनत में जुटा है। हाल के दिनों में हल्द्वानी के उत्थान मंच में आयोजित सीनियर गायन वर्ग में वह पहला स्थान प्राप्त कर चुका है। हालांकि मुकाम पाने में उसके सामने आर्थिक संकट भी चुनौती बना हुआ है, मगर वह लगन से जुटा हुआ है।
पहाड़पानी के ग्राम सेलालेख के तोक सिरोड़ी के धीरज मेलकानी को बचपन से हीगांव की शादी बारात में बजने वाले गीतों से विशेष लगाव रहा है। यही वजह रही है कि कुमाऊंनी गीत उसे अपनी ओर आकर्षित करने लगे और उसे गीत गाने की धुन सवार हो गई। धीरज ने अपने घर में गीत गाना तो सीख लिया लेकिन कभी किसी मंच पर गाने का अवसर न मिलने से उसकी प्रतिभा निखर न सकी। जब नवीं में पढ़ने वाले धीरज के गायन के शौक का पता राजकीय इंटर कालेज पहाड़पानी के हिन्दी प्रवक्ता मोहन मेलकानी को लगा तो उन्होंने हौसला अफजाई कर उसे मंच दिलाना शुरू कर दिया। इस तरह धीरज स्कूल और रामलीला के कार्यक्रमों में प्रस्तुति देने लगा। लोगों की सराहना मिलने पर उसे प्रोत्साहन मिला।
जब धीरज को हल्द्वानी के उत्थान मंच में उत्तरायणी मेले के बारे में पता लगा तो उन्होंने स्कूल के प्रभारी प्रधानाचार्य मोहन चन्द्र मेलकानी से वहां गायन की इच्छा जताई। इस पर शिक्षक मेलकानी ने छात्र धीरज की ललक को देख उसकी मुराद पूरी कराई। नतीजा यह हुआ कि धीरज ने सीनियर गायक वर्ग में पहला स्थान प्राप्त कर प्रतिभा का लोहा मनवाया। धीरज के पिता भोला दत्त मेलकानी किसान हैं और खेतीबाड़ी कर गुजारा चलाते हैं। धीरज का कहना है कि वह उत्तराखंड का एक गायक कलाकार बनना चाहते हैं। वहीं शिक्षक मोहन का कहना है कि अपने स्तर से वह धीरज की हरसंभव मदद कर रहे हैं और धीरज भी कुमाऊंनी गीतों में भविष्य तलाशने को मेहनत में जुटा है। कहा कि यह अच्छी बात है कि युवाओं का रुझान लोकसंस्कृति की ओर बढ़ रहा है और वे इसी में भविष्य में तलाश रहे हैं।

उत्थान मंच में कार्यक्रम प्रस्तुत करता धीरज मेलकानी।
उत्थान मंच में कार्यक्रम प्रस्तुत करता धीरज मेलकानी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.