सम्मान कार्यक्रम के दौरान की झलक

मंजू साह को मिला बेस्ट अपकमिंग आर्टिस्ट का पुरस्कार, चीड़ की नुकीली पत्तियों पर बनाई बेहतरीन कला कृति

उत्तराखण्ड कला देश/विदेश नैनीताल

मंजू साह को मिला बेस्ट अपकमिंग आर्टिस्ट का पुरस्कार, चीड़ की नुकीली पत्तियों पर बनाई बेहतरीन कला कृति
हल्द्वानी। बीते दिनों कोलकाता में इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल 2019 के अंतर्गत ट्रेडिशनल क्राफ्ट एंड आर्टिजंस एक्सपो का आयोजन किया गया था। इस एक्सपो में उत्तराखंड की ओर से तीन प्रतिनिधियों संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत कार्यरत संस्थान सीसीआरटी से सीनियर फैलोशिप प्राप्तकर्ता जीवन चंद्र जोशी, अल्मोड़ा के द्वाराहाट क्षेत्र के हाट गांवकी मंजू साह और सीसीआरटी से जुड़े व राइंका गुनियालेख में तैनात प्रवक्ता गौरी शंकर काण्डपाल ने प्रतिभाग किया। तीनों प्रतिनिधियों ने ट्रेडिशनल क्राफ्ट एंड आर्टिजंस एक्सपो में प्रतिभाग करते हुए उत्तराखंड की नायाब कला का कोलकाता में प्रदर्शन किया। तीन दिवसीय इस कार्यक्रम के दौरान देशभर के विभिन्न राज्यों से आए कलाकारों के साथ अपनी कला को साझा करने एवं अपने अनुभवों को बताने का जीवन चन्द्र जोशी और मंजू साह को स्वर्णिम अवसर प्राप्त हुआ।
कार्यक्रम के बारे में बताते हुए जीवन चन्द्र जोशी ने कहा कि कला और विज्ञान के अद्भुत संगम का यह एक्सपो सबसे बड़ा मंच है। मंजू साह को चीड़ के पेड़ की नुकीली पतियों पर बेहतरीन आकृति निर्माण के लिए बेस्ट अपकमिंग आर्टिस्ट पुरुस्कार से सम्मानित किया गया।

चीड़ के पेड़ की छाल बकेट पर जोशी ने बनाई आकर्षक कलाकृति
हल्द्वानी। उत्तराखंड के जनपद नैनीताल के रहने वाले जीवन चन्द्र जोशी जो कि सीसीआरटी के द्वारा सीनियर फैलोशिप प्राप्तकर्ता हैं। उन्होंने चीड़ के पेड़ की छाल बगेट पर बनाई गई विभिन्न आकर्षक आकृतियों को इस एक्सपो में प्रदर्शित किया। उनके द्वारा विगत कई वर्षों से क्राफ्ट के फील्ड में सक्रियता के साथ कार्य किया जा रहा है और अभी तक कई भावी कलाकारों को भी वे इस कला से जोड़ चुके हैं।
वहीं संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत कार्यरत संस्थान सीसीआरटी से जुड़े गौरी शंकर काण्डपाल विगत पांच वर्षों से उत्तराखंड के गुमनाम कलाकारों को खोज रहे हैं। अपनी इस मुहिम के माध्यम से न केवल नवागंतुक कलाकारों को संस्कृति मंत्रालय की योजनाओं से जोड़ रहे हैं बल्कि, उन्हें आर्ट एंड क्राफ्ट के विभिन्न मंचों पर उनके द्वारा पहुंचाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.