देहरादून में प्रदर्शन करते बेरोजगार

रोजगार चाहिए, अब ये चिंगारी भड़केगी

ताजा खबर देहरादून नैनीताल

चंद्रशेखर जोशी
हल्द्वानी। रोजगार मांग रहे छात्रों पर सरकार लाठियां चलवा रही है। यह शर्मनाक है। देहरादून में आज आवाज गूंज रही तुम्हारे वादे झूठे हैं। रोजगार की मांग को लेकर सैकड़ों छात्र सुबह से सचिवालय पर एकजुट होने लगे थे। इन छात्रों की एक ही मांग है… उन्हें रोजगार चाहिए। छह-सात दिन पहले उत्तराखंड के युवा राजधानी गैरसैंण बनाने को लेकर सड़कों पर उतरे थे। अब बात आगे बढ़ गई है। युवाओं को रोजगार चाहिए। इनमें से बहुतेरे युवा पहले राजनीतिक पार्टियों और नेताओं के पीछे भी लगे रहे। सरकार के सारे वादे झूठे निकले, उन्हें किसी राजनीतिक पार्टी से मतलब नहीं।
रोजगार देने का वादा करने वाली सरकार ने बेरोजगारी भत्ता भी खत्म कर दिया है। विधायक और मंत्रियों के भत्ते दोगुने कर दिए। बिजली-पानी का बिल बढ़ा दिया। स्कूलों में शिक्षक नहीं, अस्पतालों में डाक्टर नहीं। इंजीनियरिंग, डिप्लोमा और सर्टिफिकट लेकर हर घर में बच्चे परेशान हैं। उच्च शिक्षा की डिग्री लेकर हजारों युवक सड़कों की धूल फांक रहे हैं।
…उत्तराखंड से पहले दिल्ली में एसएससी की परीक्षा में धांधली को लेकर हजारों छात्र दिल्ली में एक महीने तक बैठे रहे, अब भी छात्रों का धरना जारी है। यूपी की राजधानी लखनऊ में छात्र एक महीने से रोजगार की मांग को लेकर धरना दे रहे हैं। हर घर में पढ़ लिखे युवा रोजगार के लिए परेशान हैं। उद्योग तेजी से बंद हो रहे हैं, खेती चौपट हो चुकी है। दुकानदार रोज नई आफतों से परेशान हैं। यदि अब भी सरकार ने जनता की सुध नहीं ली तो हालात बहुत बुरे हो जाएंगे।

–हमें रोजगार चाहिए–

Leave a Reply

Your email address will not be published.