शिल्प को जीवित रखने को अपनाएं स्वरोजगार: सुमित्रा

डीआईसी में वेडर डेवलपमेंट कार्यशाला
हल्द्वानी। जिला पंचायत अध्यक्ष सुमित्रा प्रसाद ने कहा कि उत्तराखंड के शिल्प को जीवित रखने के लिए बेरोजगारों को स्वरोजगार अपनाना होगा। इससे बेरोजगारी तो दूर होगी ही साथ ही शिल्प उत्पादों को भी नई पहचान मिलेगी। यह बात उन्होंने गुरुवार को जिला उद्योग केद्र के तत्वावधान में एससी-एसटी के बेरोजगारों एवं भावी उद्यमियों को प्रेरित करने के लिए आयोजित कार्यशाला का शुभारंभ करते हुए कही। उन्होंने बेरोजगारों से सरकार की एससी-एसटी हब योजना सहित अन्य लाभकारी योजनाओं का लाभ उठाने का आहृवान किया। पूर्व समाज कल्याण मंत्री राम प्रसाद टम्टा ने कहा कि स्वरोजगार में सुनहरे भविष्य की पर्याप्त संभावनाएं हैं। उन्होंने बेरोजरों से हस्तशिल्प को बढ़ावा देना को कहा। डीजीएम नाबार्ड विभोर कुमार ने विभागीय योजनाओं की जानकारी दी। हिमालय चैंबर आफ कामर्स के सचिव आरसी बिंजोला ने बेरोजगारों को उद्यमी बनने व उद्योग लगाने के दौरान आने वाली दिक्कतों व निदान के बारे में बताया। जेम के स्टेट कोआर्डिनेटर राजा ने गवर्नमेंट ई मार्केट की उपयोगिता पर प्रकाश डाला। सहायक आयुक्त राज्य कर विनय कुमार ओझा ने जीएसटी व सीजीएसटी की जानकारी दी। एमएसएमई निदेशक विजय शर्मा ने सफल उद्यमी बने के टिप्स देते हुए उत्पाद के विपणन की भी जानकारी दी। जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक विपिन कुमार ने कहा कि विभाग में कई स्वरोजगारपरक योजनाओं का संचालन हो रहा है। इनमें अनुदान का भी प्राविधान है। इन योजनाओं का लाभ देकर बेरोजगार अपना स्वरोजगार आसानी से स्थापित कर सकते हैं। कहा कि समय-समय पर विभाग उन्हें प्रशिक्षण भी देता है जिससे कि उद्योग लगाने में आने वाली दिक्कतों का वे आसानी से सामना कर सकें। इसके अलावा उन्होंने एकीकृत हस्तशिल्प विकास प्रोत्साहन योजना के बारे में भी विस्तार से बताया। कार्यक्रम का संचालन डीआईसी के सेवानिवृत्त प्रबंधक योगेश चंद्र पांडे ने किया। इस दौरान विभिन्न स्थानों से आए हस्तशिल्पियों व समूह से जुड़े लोगों ने अपने उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई थी। इस मौके पर ऋषभ पाल, मदन लाल, सुभाष चंद्रा, राकेश वर्मा, संजीव भटनागर, डिजायन विशेषज्ञ रवि शेखर सहित खुर्पाताल, राजुरा, रामनगर, गौलापार, हल्द्वानी क्षेत्र से आए युवा व बेराजगार मौजूद थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.